जयपुर / तीन साल पहले शुरु हुई थी एक तरफा प्रेम कहानी, प्यार में नाकाम रहा तब अपनाया मौत का ऐसा रास्ता

Dainik Bhaskar : Nov 14, 2019, 08:15 AM

जयपुर | झोटवाड़ा इलाके में कालवाड़ रोड स्थित श्रीराम नगर एक्सटेंशन में मंगलवार को कार में वर्षा सोनी के सिर में दो गोली मारकर हत्या के बाद कनपटी में गोली चलाने वाला 29 वर्षीय गोविंद सोनी ने भी बुधवार को दम तोड़ दिया। आरोपी गोविंद और मृतका वर्षा सोनी कालवाड़ रोड पर श्री राम नगर कॉलोनी के रहने वाले थे। इन दोनों के घरों के बीच महज डेढ़ सौ मीटर की दूरी है। करीब तीन साल पहले गोविंद की एक तरफा प्रेम कहानी शुरु हुई थी। जिसमें प्यार और फिर शादी में वह नाकाम रहा तो अपनाया युवती की हत्या और खुदकुशी का रास्ता।

एक ही कॉलोनी में रहने और स्वजातिय होने से हुई थी जान-पहचान

वर्ष 2011 में विद्याधर नगर इलाके में एक युवती पर अपने साथी गुड्‌डू सिंधी के साथ तेजाब फेंकने के मामले में जेल से पांच साल की सजा काटकर बाहर आए गोविंद की शादी नहीं हो रही थी। तब गोविंद का परिवार कुमावत कॉलोनी, खातीपुरा से श्री राम नगर में नया मकान आकर रहने लगा।

इसी बीच करीब तीन- साढ़े तीन साल पहले एक ही कॉलोनी में रहने के दौरान गोविंद ने वर्षा को देखा। बताया जा रहा है कि गोविंद, मृतका वर्षा को एक तरफा पसंद करने लगा। वर्षा के परिजनों का दावा है कि एक ही जाति के होने से गोविंद के माता पिता और भाई ने वर्षा से उसकी शादी की चर्चा शुरु की।

गोविंद सोनी के माता पिता उसके रिश्ते की बात लेकर कॉलोनी में ही रहने वाली वर्षा सोनी के घर भी गए। लेकिन आपराधिक प्रवृत्ती का होने से वर्षा के परिजनों ने शादी की बात से इंकार कर दिया था। वर्षा के परिजनों के मुताबिक कभी कभार रास्ते में आते जाते वक्त भी गोविंद के परिजन वर्षा के मिलने पर उसे शादी करने को कहते थे। 

बेटी को भला बुरा समझाते हुए उसी पर छोड़ा शादी करने का फैसला

वर्षा के पिता ने पुलिस रिपोर्ट में बताया कि पिछले करीब दो सालों में गोविंद और उसके परिजनों ने शादी करने का दबाव बनाना शुरु किया। वे अक्सर बिना बुलाए घर आने जाने लगे और किसी भी तरह गोविंद व वर्षा की शादी करने की बात कही। इसी बीच, एक बारगी वर्षा शादी के लिए गोविंद सोनी व उसके परिवार की बातों में आ गई।

वह शादी करने को तैयार हो गई। तब वर्षा के पिता ने उसे अच्छा बुरा समझाया। साथ ही, वर्षा पर गोविंद से शादी करने और नहीं करने का फैसला छोड़ दिया। पिछले दिनों ही वर्षा ने अपने पिता से बातचीत कर गोविंद से शादी करने की बात से इंकार कर दिया। वर्षा के पिता का आरोप है कि करीब 15 दिन पहले ही गोविंद उनके घर पहुंच गया था। जहां उसने वर्षा से शादी करने की बात कही।

परिजनों के इंकार करने पर परिवार को बुरे अंजाम और मारने की धमकी देकर चला गया। इससे वे परेशान हो गए। 12 नवंबर, मंगलवार को दोपहर करीब साढ़े 12 बजे वर्षा जब बाजार में फ्रूट्स खरीदने पहुंची। तब गोविंद उसे अपने जीजा की कार में बैठाकर ले गया। इसके बाद रामनगर विस्तार स्थित बहन के ससुराल के समीप कार को एक पार्क के सामने रोका।

पोस्टमार्टम में खुलासा, वर्षा के सिर में पिस्टल से मारी दो गलियां

वहां पिस्टल से वर्षा के सिर में दो गोली चला दी। सिर के टुकड़े होने से वर्षा की मौत हो गई। इसके बाद गोविंद ने भी कनपटी में गोली मार ली। जो कि सिर में फंस गई। ऐसे में, गोविंद को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। जहां उसने बुधवार को दम तोड़ दिया। मामले में पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज जुटा रही है।

इससे पता चलेगा कि गोविंद ने वर्षा को कार में कहां से बैठाया। गोविंद के मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया है। ताकि यह पता चल सके कि क्या वारदात से पहले गोविंद की वर्षा से बातचीत हुई थी। वहीं, पुलिस मामले में हकीकत तक पहुंचने के लिए दोनों परिवारों के सदस्यों के बयान लेगी।

वर्षा के शव का दोपहर को अंतिम संस्कार किया गया। इसके बाद शाम को गोविंद के शव का भी दाह संस्कार कर दिया गया। वहीं, आसपास के लोगों ने बताया कि उन्हें सोशल मीडिया ग्रुप और मीडिया में आई खबरों से घटना का पता चला। घटना के बाद से बुधवार को कॉलोनी में सन्नाटा छाया हुआ था। लेकिन वारदात की चर्चा बनी रही।