जयपुर / सोनिया गाँधी को खुश करने के लिए मुख्यमंत्री गहलोत पद की मर्यादा भी भूल बैठे: सतीश पूनियां

Zoom News : Nov 14, 2019, 08:56 PM

जयपुर, नरेंद्र मोदी के बारे में एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा अपमानजनक शब्द कहने पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने नाराजगी जताई और पलटवार करते हुए कहा कि मोदी जी के लिए इस तरह की भाषा का उपयोग करना काँग्रेस और मुख्यमंत्री गहलोत की ओछी मानसिकता का परिचायक है। सोनिया जी को खुश करने के लिए मुख्यमंत्री जी पद की मर्यादा भी भूल बैठे।

एक परिवार की चापलूसी में वो प्रधानमंत्री के लिए भाषा की मर्यादा लांघ रहे है। नरेन्द्र मोदी देश की जनता द्वारा चुने हुए  है, उन पर इस तरह बयान देकर मुख्यमंत्री जनता लोकतंत्र का अपमान कर रहे है।

डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि कांग्रेस में वर्षो से गांधी नेहरू परिवार ही राज करता रहा है, लेकिन भाजपा के सभी नेता संघर्ष करके यहां तक पहुंचे हैं, किसी परिवार की विरासत से नहीं पहुंचे है। 

संघ को किसी भी तरीके से राजनीतिक बयान में घसीटने  का कोई औचित्य नहीं है। इसका मतलब संघ के विचारों और ताकत से कांग्रेस डरी हुई है। कांग्रेस के नेता संघ और मोदी को गाली दे कर अपनी आका सोनिया गांधी को प्रसन्न करने में लगे हुए हैं।

पूनियां ने कहा कि देश के यशस्वी और लोकप्रिय प्रधानमंत्री मोदी जिन्होंने भारत का मान पूरे विश्व में बढ़ाया है और अपने जीवन का एक एक क्षण देश पर न्योछावर कर रहें है, उन पर गहलोत द्वारा इस प्रकार की टिप्पणी अशोभनीय है। 

मोदी सरकार प्रथम और द्वितीय के कार्यकाल में देश के विकास हेतु जितने कार्य हुए हैं, उतने कांग्रेस के 55 वर्षों के शासन में भी नहीं हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की गरीब जनता के हितों को ध्यान रखते हुए जनकल्याणकारी योजनाएं चलाई है, इससे भारत आज विकास की राह पर चल रहा है, ऐसा कार्य वही व्यक्ति कर सकता है, जिसने बचपन से ही भारत की गरीबी को समझा और देखा हो व त्याग-तपस्या करके इतने बड़े पद पर पहुंचा हो। आज भारत की पहचान पूरे विश्व में एक सशक्त देश के रूप में हो चुकी है। 

भारत का यह मान हमारे प्रधानमंत्री ने ही बढ़ाया है। अब कोई देश हमें आंखे नहीं दिखाता। हमारी विदेश नीति, रक्षा नीति, आंतरिक सुरक्षा इत्यादि के मामलों में भी सकारात्मक परिणाम है। प्रधानमंत्री पर यह टिपण्णी से मुख्यमंत्री और कांग्रेस की घबराहट साफ दिखाई दे रही है।