Coronavirus / ड्रोन से होगी कोरोना टीके की डिलीवरी, केंद्र की मिली मंजूरी

Zoom News : May 08, 2021, 10:47 PM
Coronavirus | कोरोना वायरस टीकाकरण को रफ्तार देने के लिए तेलंगाना में ड्रोन से वैक्सीन की डिलीवरी की जाएगी। शनिवार को नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने तेलंगाना में ड्रोन से वैक्सीन डिलीवरी की इजाजत दे दी है।  बता दें कि तेलंगाना सरकार ने ड्रोन के जरिए वैक्सीन डिलीवरी के लिए केंद्र सरकार से इजाजत मांगी थी। मंत्रालय ने कहा कि उसने तेलंगाना सरकार को मानवरहित विमान प्रणाली (UAS) नियम-2021 में सशर्त छूट दी है। सरकार की ओर से मिली मंजूरी एक साल तक या फिर अगले आदेश तक के लिए मान्य होगा।

तेलंगाना में ड्रोन के जरिए वैक्सीन डिलीवरी की इजाजत मिलने के बाद अब राज्य के दूर-दराज के गांवों में आसानी से टीका पहुंचाया जा सकते हैं। ड्रोन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद टीकों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने में लगने वाले समय में भी कमी आएगी और टीकाकरण को बढ़ावा मिलेगा।

बता दें कि देश में एक मई से कोरोना वायरस टीकाकरण का तीसरा चरण शुरू हो चुका है। इस चरण में 18 या उससे अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जा रहा है। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हुआ है कि ड्रोन से वैक्सीन डिलीवरी का कार्यक्रम कब से शुरू होगा लेकिन, अनुमान लगाया जा रहा है कि मई के अंत से राज्य में यह व्यवस्था शुरू हो जाएगी।

तेलंगाना में शुक्रवार को 5892 नये मामले सामने आने के बाद कुल मामले 4.81 लाख के पार चले गए थे जबकि 46 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 2625 हो गई है। शनिवार के आंकड़ा अभी तक जारी नहीं हुआ है। शुक्रवार को राज्य में पिछले 24 घंटे में 9,122 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद संक्रमण से उबरने वाले लोगों की कुल संख्या चार लाख से अधिक हो गई थी।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने गुरुवार को कहा कि राज्य में लॉकडाउन लगाने की योजना नहीं है क्योंकि इससे जन-जीवन के साथ ही अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। राव ने कहा कि पूर्व के अनुभव से पता चलता है कि कोविड-19 को रोकने में लॉकडाउन कारगर कदम नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि तेलंगाना में 25 से 30 लाख प्रवासी मजदूर हैं और 2020 में लॉकडाउन के दौरान उनके जीवन पर बहुत बुरा असर पड़ा था।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER