Coronavirus / दिल्ली में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए शुरू होगा प्लाज्मा बैंक, सीएम केजरीवाल ने की घोषणा

Dainik Jagran : Jun 29, 2020, 02:29 PM
नई दिल्ली | दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने मरीजों के इलाज के लिए दिल्ली में 'प्लाज्मा बैंक' शुरू करने का फैसला किया है। इसकी जानकारी देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि प्लाज्मा बैंक के जरिए कोरोना के मरीजों का इलाज किया जा सकेगा।केजरीवाल ने कोरोना से ठीक होने वाले लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की है।

उन्होंने बताया कि दिल्ली देश का पहला ऐसा राज्य था जहां पर दो ढाई महीने पहले प्लाज्मा का ट्रायल हुआ। यहां पर 29 मरीजों के ऊपर ट्रायल हुआ था। जो नतीजे आए वह काफी उत्साहवर्धक थे। लेकिन पिछले कुछ दिनों में प्लाज्मा को लेकर काफी अफरातफरी मची हुई है। लोगों के फोन आ रहे हैं कि प्लाज्मा दिलवा दीजिए। सीएम केजरीवाल ने बताया कि कोरोना के मरीजों में दो समस्या होती है।

1. मरीज का ऑक्सीजन लेवल गिर जाता है।

2. रेस्पिरेशन का लेवल बहुत बढ़ जाता है।

प्लाज्मा देने से मरीजों को मिलती है राहत

सीएम ने बताया कि यह देखने में आया है कि अगर मरीज को प्लाज्मा दे दिया जाए तो ऑक्सीजन लेवल बढ़ जाता है और रेस्पिरेशन लेवल गिर जाता है। 29 मरीजों को प्लाज्मा दिया गया जिसके अच्छे नतीजे आए। दिल्ली सरकार ने इस रिपोर्ट को केंद्र सरकार को सौंपा और उसके आधार पर केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी की इजाजत दी। अब प्लाज्मा थेरेपी की तो इजाजत मिल गई लेकिन सवाल है प्लाज्मा कहां से आएगा? प्लाज्मा केवल वही लोग दे सकते हैं जो कोरोना ग्रस्त हुए और अब ठीक हो गए।

सीएम ने कहा कि बताया जा रहा है कि इस समय लोग प्लाज्मा लेने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। सरकार का मकसद है कि जो अभी कोशिशें चल रही हैं उसको मजबूत किया जाए। सरकार ने तय किया है कि दिल्ली में प्लाज्मा बैंक बनाया जाए। 

आईएलबीएस में बनाया जाएगा प्लाज्मा बैंक 

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलेरीज साइंसेज ( ILBS) में प्लाज्मा बैंक बनाया जाएगा। लोग अभी भी प्लाज्मा डोनेट कर रहे हैं लेकिन इसके लिए कोई व्यवस्था नहीं है इसलिए अब व्यवस्था बना दी जाएगी। जो लोग भी कोरोना से ठीक हुए हैं उनसे प्रार्थना है कि आप प्लाज्मा डोनेट करें। यही सच्ची भगवान की भक्ति है।

प्लाज्मा लेने के लिए डॉक्टर की सिफारिश जरूरी

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लाज्मा लेने के लिए डॉक्टर की सिफारिश जरूरी होगी। डॉक्टर आईएलबीएस अस्पताल को अप्रोच करेंगे और अस्पताल उनको प्लाज्मा दे देगा। जो लोग ठीक हो गए हैं उनको सामने आकर प्लाज्मा डोनेट करना होगा यह सबसे जरूरी है। अगले कुछ दिनों में सरकार की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया जाएगा जो लोग भी प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं वह उस पर फोन करके संपर्क कर सकते हैं। प्रशासन सारा इंतजाम करेगी।

सीएम ने बताया कि लोकनायक अस्पताल में पिछले दिनों 35 लोगों को प्लाज्मा दिया गया। इनमें से 34 लोग जीवित हैं। एक प्राइवेट अस्पताल में 49 प्लाज्मा दिए गए। यहां पर 46 लोग बच गए। सीएम ने कहा जो मरीज अब ठीक हो रहे हैं उनको भी मनाया जाएगा और प्रेरित किया जाएगा कि वह प्लाज्मा डोनेट करें। जितने भी एंटीबॉडी टेस्ट हो रहे हैं उनसे भी कहा जाएगा। दिल्ली में अब तक कोरोना से 52,000 लोग ठीक हो चुके हैं।

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में अब बेड की कोई कमी नही है। कुल 13,500 बेड्स हैं जिसमें से 7500 बेड्स ख़ाली हैं। उन्होंने कहा कि लोग अस्पतालों में दर-दर की ठोकरें खाते थे और भटकते रहते थे। अस्पतालों में जाते थे तो सुनने को मिलता था कि बेड खाली नहीं है। लेकिन अब ऐसी कोई समस्या नहीं है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER