देश / दिल्ली हिंसा में अब तक 27 की मौत, 30 की हालत गंभीर, अदालतों ने पुलिस की कार्यशैली पर उठाए सवाल

AMAR UJALA : Feb 27, 2020, 07:21 AM

नई दिल्ली | उत्तर पूर्वी दिल्ली में छिटपुट वारदातों को छोड़कर बुधवार को ज्यादातर इलाकों में शांति रही। हालांकि 14 और लोगों की मौत के बाद मरने वालों का आंकड़ा 27 हो गया है। वहीं, 250 से अधिक लोग घायल हैं, इनमें 30 की हालत नाजुक है। मृतकों में आईबी के जवान अंकित शर्मा भी हैं। 

इस बीच, हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस के रवैये पर सवाल उठाते हुए बेहद सख्त टिप्पणियां की। दूसरी ओर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने खुद मोर्चा संभाल लिया। उन्होंने हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा कर गृहमंत्री अमित शाह को स्थिति से अवगत कराया।

हिंसाग्रस्त इलाकों में बुधवार को अघोषित कर्फ्यू रहा। ब्रह्मपुरी रोड से घोंडा चौक, नूर-ए-इलाही चौक, यमुना विहार के चप्पे-चप्पे पर आईटीबीपी और सीआरपीएफ तैनात रही। करावल नगर रोड, बृजपुरी रोड, शिव विहार, मुस्तफाबाद, मौजपुर, जाफराबाद, सीलमपुर, ज्योति नगर, मौजपुर, गोकलपुरी, चांदबाग, वेलकम आदि इलाकों में भी पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात रहा। करावलनगर में बुधवार सुबह उपद्रवियों ने एक दुकान और कार में आग लगा दी। 

मंगलवार रात शिव विहार, चमन पार्क और बृजपुरी रोड के हालात सबसे ज्यादा खराब रहे। खजूरी खास के ई और सी ब्लॉक में 50 से अधिक दुकानों, घरों व फैक्टरियों को जला दिया गया। बृजपुरी रोड पर अरुण सीनियर सेकेंडरी स्कूल, चमन पार्क में राजधानी पब्लिक स्कूल और डीआरपी पब्लिक स्कूल के अलावा कई धार्मिक स्थलों, मकानों, दुकानों को आग के हवाले किया गया। 100 से अधिक वाहन फूंके गए। तीन दिन में 800 से अधिक दुकानों, मकानों, फैक्टरियों और हजारों छोटे-बड़े वाहन फूंके गए हैं।

ड्रोन से छतों पर रखी जा रही नजर

दिल्ली के हालात पर गृह मंत्रालय लगातार नजर रखे है। मंगलवार को स्पेशल सीपी (लॉ एंड ऑर्डर) का चार्ज संभालने वाले विशेष आयुक्त एसएन श्रीवास्तव सहित कई संयुक्त आयुक्त बुधवार को पैदल मार्च करते दिखे। शांति बहाली के लिए अर्धसैनिक बलों की 45 कंपनियों को लगाया गया है। पुलिस के प्रवक्ता एमएस रंधावा ने बताया, ड्रोन से हिंसाग्रस्त इलाकों की निगरानी की जा रही है।

इन नंबरों पर कॉल करें

पुलिस ने कहा, कोई शिकायत या सूचना देने के लिए 112 और 011-22829334 तथा 011-22829335 पर फोन किया जा सकता है।

18 एफआईआर, 106 गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने बताया कि शाम तक दिल्ली हिंसा मामले में 18 एफआईआर दर्ज की गई हैं और 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पत्थरबाजी में आईबी कर्मी की मौत

पुलिस के मुताबिक, चांदबाग निवासी आईबी जवान अंकित की मौत दंगाइयों की पत्थरबाजी में हुई है। वह दो दिन से लापता थे, उनका शव चांद बाग में नाले से मिला। कुछ दिन पहले ही अंकित की आईबी में नौकरी लगी थी।

शहीद हेड कांस्टेबल के परिवार को एक करोड़

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल के परिवार को एक करोड़ रुपये की मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा, दिल्ली हिंसा में बाहरी लोग शामिल थे। इस बीच रतन लाल का राजस्थान के सीकर स्थित उनके पैतृक गांव में बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं, दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिजन को दो-दो लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER