खुलासा / DSP ने आतंकियों को दिल्ली पहुंचाने के लिए की थी डील, अफजल गुरु से भी था कनेक्शन

AajTak : Jan 13, 2020, 07:28 AM

कुलगाम | जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के खूंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह के मामले में नया खुलासा हुआ है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह ने आतंकियों को पहले चंडीगढ़ और फिर दिल्ली पहुंचाने के लिए लाखों रुपये की डील की थी। डीएसपी देवेंद्र सिंह का संसद हमले के आतंकी अफजल गुरु से कनेक्शन भी सामने आया है।

आतंकी अफजल गुरु ने भी कथित तौर पर देवेंद्र सिंह का नाम लिया था। पुलिस का कहना है कि डीएसपी देवेंद्र के साथ अफजल गुरु के साथ कनेक्शन की भी जांच की जा रही है। आपको बता दें कि भारतीय संसद पर 13 दिसंबर 2001 को आतंकी हमला हुआ था। इस हमले को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के खूंखार आतंकियों ने अंजाम दिया था। इस आतंकी हमले में कुल 14 लोगों की जान गई थी। इस हमले की साजिश रचने में शामिल रहे आतंकी अफजल गुरु को दोषी ठहराया गया था और फांसी की सजा दी गई थी।

हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों के साथ गिरफ्तार जम्मू-कश्मीर पुलिस का डीएसपी देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात था। उसने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था। एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रपति मेडल से भी नवाजा जा चुका है। देवेंद्र सिंह एंटी टेरर ग्रुप का भी सदस्य था।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) विजय कुमार ने डीएसपी देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उन्होंने यह भी कहा कि डीएसपी देवेंद्र सिंह से आतंकियों की तरह पूछताछ की जाएगी। देवेंद्र सिंह से सभी सुरक्षा एजेंसियां कड़ाई से पूछताछ करेंगी। उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर में दो खूंखार आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए डीएसपी देवेंद्र सिंह के मामले को गंभीरता से लिया गया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी ने बताया कि देवेंद्र सिंह के आवास से पुलिस ने 3 AK-47 राइफल और 5 हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए हैं। देवेंद्र सिंह को उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वह आतंकियों के साथ एक कार में सवार होकर कहीं जा रहा था। वह आतंकी नवीद अहमद शाह उर्फ नवीद बाबू और रफी अहमद के साथ गिरफ्तार हुआ है। पिछले कुछ दिनों से वो अवकाश पर चल रहा था।