कोटा / चलती कार में आग, सेंट्रल लाॅक सिस्टम हाेने से गेट नहीं खुले, चालक जिंदा जला

Dainik Bhaskar : Oct 31, 2019, 12:30 PM

कोटा | राजस्थान के कोटा जिले में रायपुरा हाईवे पर बुधवार सुबह एक चलती कार में भीषण आग लग गई। इस दाैरान माैके पर माैजूद लाेग कार चालक की मदद करने की बजाए वीडियाे बनाने में लगे रहे। अाग लगने से कार के गेट अाैर शीशे लाॅक हाे गए अाैर वाहन चालक प्रेमचंद जैन थांवलावाले (53) अंदर ही फंस गए। इसके बावजूद किसी ने उनकी मदद नहीं की अाैर जलने से उनकी माैत हाे गई। सूचना पर दाे दमकलें करीब 20 मिनट में माैके पर पहुंचीं अाैर 15 मिनट में अाग पर काबू पाया।

अग्निशमन विभाग ने अपनी प्रारंभिक जांच में माना है कि आग लगने के बाद माैके पर माैजूद लोग वीडियो बनाने के बजाए मदद करते तो प्रेमचंद को बचाया जा सकता था। विभाग का दावा है कि उन्हें कुछ वीडियो ऐसे मिले है, जिसमें आग ज्यादा नहीं थी। अगर कोई तत्काल मदद करते हुए किसी तरह कार के गेट खोल देता तो जैन को बचाया जा सकता था। अग्निशमन विभाग की प्राथमिक जांच के अनुसार कार की वायरिंग में शाॅर्ट सर्किट के चलते यह हादसा हुअा। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने मामले को संदिग्ध मौत का मामला मानते हुए जांच भी शुरू कर दी है।

लोग मदद करते तो बच जाते प्रेमचंद : पुलिस

बोरखेड़ा थाने के उप निरीक्षक संजय सिंह ने बताया कि आग लगने के कुछ ही पलों में अाग पूरी तरह जलकर खाक हो गई और कार सवार को बाहर आने का मौका तक नहीं मिला। सूचना पर पुलिस सबसे पहले मौके पर पहुंची ताे लोग वीडियो बना रहे थे। लोग मदद करते तो प्रेमचंद को बचाया जा सकता था। कार चालक की पत्नी के नाम थी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। एफएसएल की टीम ने कार अाैर मृतक के सैंपल लिए हैं ताकि आग लगने और मौत के कारणों की हकीकत सामने आ सके।