स्थानीय / गहलोत ने विधायकों से जय श्रीराम बुलवाया, कहा-हम प्रेम से बुलवाते, भाजपा वाले जबरदस्ती करते

Dainik Bhaskar : Jul 30, 2019, 12:22 PM

जयपुर. विधानसभा में बजट पर बहस के बाद सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सॉफ्ट हिंदुत्व का कार्ड खेलते हुए भाजपा पर जमकर वार किया। सदन में पहुंचते ही उन्होंने विधायकों से सबसे पहले जय श्रीराम बुलवाया। विधायकों ने जय श्रीराम कहा तो गहलोत बोले-  मैंने प्रेम से मर्यादा पुरुषोत्तम राम का नाम लिया तो देखो, पक्ष हो चाहे विपक्ष, सब खुश हुए और सभी ने जय श्रीराम बोला।

उन्होंने अपने भाषण के दौरान भाजपा पर कुल 9 बार कटाक्ष किए कि आप जबरन जय श्रीराम बुलवाते हो। इस दौरान सीएम ने उद्योगों पर भार को देखते हुए बिजली की दरें एक रु. प्रति यूनिट से घटाकर 60 पैसे प्रति यूनिट करने व पैतृक संपत्ति के बंटवारे के दस्तावेजों पर एक फीसदी पंजीयन शुल्क की जगह टोकन राशि एक हजार राशि करने की घोषणा भी की।

सीएम ने भाजपा के मुद्दों पर ही भाजपा को घेरा

सीएम ने कहा - जबरदस्ती जय श्रीराम कहलवाना गलत है। मन से कोई बोले तो अच्छी बात है, पर जय श्रीराम को लेकर भी हम लोग ऐसा माहौल बनाएंगे तो देश कहां जाएगा, चिंता का विषय है। अगर कोई अल्ला-हू-अकबर बोल जाए और कोई एतराज करे या कोई कहे कि जबरदस्ती बोलना पड़ेगा तो यह गलत है।

इस बार अच्छी बारिश हुई, सभी को बधाई

सदन में गहलोत ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को जन्मदिन की बधाई देते हुए कहा कि दूसरी खुशखबरी यह है कि इन दिनों अच्छा मानसून आया है। सभी विधायकों ने मेज थपथपाई। गहलोत बोले- जो चिंता की लकीरें माथे पर थी, उससे छुटकारा मिला। भाजपाई कहते थे कि कांग्रेस राज में हर बार अकाल पड़ता है। इसके बाद भाजपा विधायकों से बार-बार पूछा- इस बार इंद्र देव की बड़ी कृपा हुई। कह सकता हूं मैं?  उन पर खाली आपका हक नहीं है? बोलो- जय श्री राम......?

गांधी-अंबेडकर, सब पर कब्जा कर रही भाजपा

मुख्यमंत्री गहलोत बोले- भाजपा के लोग पटेल पर कब्जा कर रहे हैं, गांधी पर कर रहे हैं, अंबेडकर साहब पर कर रहे हैं, यह गलत है। जय श्रीराम, श्रीराम का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम राम होता है। इस नाम को भी इन लोगों ने इस रूप में लिया है कि लोगों के बीच अशांति पैदा हो। गुस्सा पैदा हो, यह अच्छी बात नहीं होती। दुर्भाग्य है।

बांदीकुईं सहित 8 जगह नए महिला कॉलेज की घोषणा

सभी चिकित्सालयों में 500 की बजाय अब कुल एक हजार बैड के होंगे। प्रतापगढ़ जिला अस्पताल की क्षमता 150 बेड से बढ़ाकर 300 बैड। 50 पीएचसी को सीएचसी में क्रमोन्नत करेंगे। 50 की जगह अब 100 नए पीएचसी खोले जाएंगे। बांदीकुई, सिंकदरा, बहरोड़, लक्ष्मणगढ़, तिंवरी मथानिया, हेतमसर (झुंझुनूं), प्रतापगढ़, हनुमानगढ़ में नए महिला कॉलेज खुलेंगे।

अलवर, बांसवाड़ा, बारां, चित्तौड़, मेडिकल कॉलेज की डीपीआर बनाई जाएगी, स.माधोपुर, टोंक, नागौर, जैसलमेर, करौली, सिरोही में केंद्र से बातचीत के आधार पर 60:40 के अनुपात में मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे।

आदिवासी क्षेत्र डूंगरपुर में काली बाई भील की स्मृति में काली बाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी वितरण योजना चलाएंगे। एससी व अन्य वर्ग की 7 हजार मेधावी छात्राओं को स्कूटी वितरित करेंगे।

भामाशाह योजना की जांच के लिए मंत्रियों की कमेटी बनेगी

सीएम ने भामाशाह योजना में 150 करोड़ से ज्यादा की शिकायते आई हैं, उसकी जांच के लिए मंत्री समूह की कमेटी बनाने की घोषणा भी की।

ईडब्लयूएस में आ रही कठिनाइयों के लिए मंत्री समूह की कमेटी बनाएंगे।

विधायकों को बहुमंजिला अपार्टमेंट के लिए, वेतन, भत्ते, चिकित्सा व आवास सुविधा जैसी समस्या के स्थाई फार्मूले के लिए कैबिनेट सब कमेटी।