उड़िसा / पति करवाता था वेश्यावृत्ति का काम, पत्नी ने किया मना तो प्राइवेट पार्ट में डाल दी शराब की बोतल

Zoom News : Mar 25, 2021, 07:15 AM
ओडिशा से एक दिलदेहला देने वाली वारदात सामने आई है। जहां एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के प्राइवेट पार्ट्स में शराब की बोतल डाल दी। पत्नी का कसूर बस इतना था कि उसने अपने पति के कहने पर वेश्यावृत्ति का काम करने से मना कर दिया था।  जानकारी के मुताबिक, कंधमाल जिले के तुमुदीबांध के रहने वाली महिला की शादी 10 साल पहले केंद्रपाड़ा जिले के पट्टामुंडई के चंदन आचार्य से हुई थी। आरोपी चंदन आचार्य पेशे से एक ऑटो चालक है। वह अपनी पत्नी और अपनी 5 साल की बेटी के साथ चंद्रशेखरपुर पुलिस सीमा के पास पद्मावती विहार में किराए के मकान में रह रहा था।

महिला ने चंद्रशेखरपुर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। महिला की शिकायत के मुताबिक, शादी के तीन साल बाद ही उसके पति ने उसे वेश्यावृत्ति का काम करने के लिए मजबूर करने लगा। पत्नी का कहना है कि पिछले सात सालों से पैसे के लिए उसका पति उसके लिए ग्राहक लाकर वेश्यावृत्ति का काम कराता था। जिसे वह अपने घर से ही संचालित कर रहा था।

पीड़ित महिला का कहना है कि पांच दिन पहले उसने वेश्यावृत्ति के काम का विरोध किया और इस रैकेट का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया। इससे पहले भी महिला ने कई बार इस काम का विरोध किया और अजनबियों के साथ देह व्यापार से इनकार कर दिया था। इससे भड़ककर उसके पति ने महिला की कई बार पिटाई की। 

घटना के दिन भी दंपति के बीच इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। आरोपी शाम को नशे की हालत में लौटा। जब पत्नी ने वेश्यावृत्ति से मना किया तो उसने गुस्से में महिला को लोहे की रॉड से पीटा और उसके प्राइवेट पार्ट्स में शराब की बोतल डाल दी, जिसके बाद वह बेहोश हो गई।

घटना के बाद पीड़िता ने अपनी मां के सामने अपनी आपबीती सुनाई, जिसने तुरंत पुलिस को सूचित किया। मामले की जानकारी मिलते ही चंद्रशेखरपुर पुलिस स्टेशन की एक टीम ने पीड़ित और उसकी 5 वर्षीय बेटी को एक बंद कमरे से छुड़वाया। इसके बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 323, 498 ए और 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया और आरोपी आचार्य को गिरफ्तार कर लिया।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER