नई दिल्ली / इमरान खान ने दिये गैर-जिम्मेदाराना बयान, जिस पद पर बैठे हैं वो उसके काबिल नहीं: विदेश मंत्रालय

India TV : Oct 05, 2019, 03:50 AM

नई दिल्ली | शुक्रवार को विदेश मंत्रालय की तरफ से एक बड़ा बयान आया। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान जिस पद पर बैठे हैं वो उसके काबिल नहीं हैं। दरअसल विदेश मंत्रालय ने ये बात इमरान की तरफ से लगातार दिए जा रहे गैर-जिम्मेदाराना बयानों को लेकर कही गई।

‘पहली बार नहीं दिया इमरान ने गैर-जिम्मेदाराना बयान’

हाल ही में इमरान खान ने जिहाद और PoK के लोगों को LoC क्रॉस करने वाले बयान दिए थी। इन बयानों को लेकर जब विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा कोई बयान नहीं आया है, इसके पहले भी उन्होंने इस तरह का बयान दिया। उन्होंने उत्तेजक और गैर जिम्मेदाराना भाषा का इस्तेमाल किया। हम इसकी कड़े शब्दों में  निंदा करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि इमरान जिस पद पर बैठे हैं वो उसके काबिल नहीं हैं। ये सामान्य बर्ताव नहीं है।

पाकिस्तान के पक्ष में तुर्की के बयान पर कही ये बात

भारत ने कश्मीर मुद्दे पर तुर्की एवं मलेशिया के बयान की ‘कड़ी निंदा’ करते हुए देश के आंतरिक मुद्दे से जुड़े विषय पर इन दोनों के बयान को ‘‘तथ्य से परे’ बताया तथा मित्रतापूर्ण संबंधों की ओर ध्यान दिलाते हुए उनसे ऐसे बयान देने से बचने को कहा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘तुर्की का बयान तथ्यात्मक रूप से गलत, दुर्भावना से प्रेरित है। हम चाहते हैं कि तुर्की की सरकार वस्तुस्थिति के बारे में उपयुक्त समझ बनाने के बाद ही आगे कोई बयान दें।’’ उन्होंने कहा कि जहां तक मलेशिया का सवाल है, उस देश के साथ भी भारत के मित्रतापूर्ण संबंध रहे हैं और हाल के वर्षो में ये और बेहतर हुए हैं।

कुमार ने कहा, ‘‘लेकिन मलेशिया के बयान (मलेशिया के प्रधानमंत्री का) से हमें भी आर्श्चय हुआ है और हम इसकी निंदा करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मलेशिया के प्रधानमंत्री का बयान तथ्यों पर आधारित नहीं था।’’

‘आतंकवाद पर पाकिस्तान कहता कुछ है, करता कुछ है’

हाफिज सईद को लकेर रवीश कुमार ने कहा कि हाफिज सईद संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादी है, एक देश से पॉकेट मनी देने के लिए अप्रोच करता है, क्या इनको दूसरे आतंकी की तरफ ट्रीट नहीं किया जाना चाहिए। आप कहते कुछ हैं, और करते कुछ हैं।