विशेष / जन्मदिन विशेष : भारत की ओर से पहला शतकवीर, डॉन ब्रेडमैन को हिट विकेट करने वाला एकमात्र गेंदबाज

Zoom News : Sep 11, 2019, 12:01 PM
आजाद भारत के पहले क्रिकेट कप्तान का आज जन्मदिन है। यह वही खिलाड़ी है, जिसने भारतीय टीम की ओर से पहला शतक लगाया और क्रिकेट के महान खिलाड़ी सर डॉन ब्रेडमैन को हिट विकेट आउट किया। बल्लेबाजी के शहंशाह डॉन ब्रेडमैन जीवन में मात्र एक बार हिट विकेट आउट हुए हैं। जी हां! आज लाला अमरनाथ का जन्मदिन है। 
वह लाला अमरनाथ, जिसने क्रिकेट में राजा—महाराजाओं के वर्चस्व को खत्म करने की शुरूआत की। इनके बेटे मोहिन्दर अमरनाथ ने 1983 का विश्वकप जिताने में सबसे उपयोगी ​भूमिका निभाई थी। 1933 में बंबई जिमखाना में पहले टेस्ट में लाला ने 118 रन की पारी खेली थी। 185 गेंदों में खेली गई पारी में लाला ने 21 चौके जड़े। पहली पारी में वे 38 रन बनाकर पगबाधा हुए थे। जीवन में 24 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने 24.38 की औसत से 878 रन स्कोर किए थे। इन मैचों की 35 पारियों में उन्होंने गेंदबाजी की, जिसमें 45 विकेट चटकाए थे। दो बार पांच और तीन बार चार विकेट लिए। उनका जन्म अविभाजित भारत में कपूरथला रियासत में हुआ था। टीम में अच्छे गेंदबाज और बल्लेबाज के रूप में प्रभावी रहे लाला बाद में चयनकता, टीम मैनेजर, प्रशिक्षक और प्रस्तोता भी रहे। उन्होंने 186 प्रथम श्रेणी मैचों में दस हजार से अधिक रन बनाए और 463 विकेट भी अपने नाम किए। उनकी आलराउंड छवि को उनके बेटे मोहिन्दर अमरनाथ ने अपनाया और भारत के लिए 1983 का विश्वकप कपिल देव की कप्तान में जीता।
राजाओं का वर्चस्व तोड़ा
लाला ने भारतीय क्रिकेट में राजा महाराजाओं के वर्चस्व को चुनौती दी। उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ा। 1936 में इंग्लैण्ड दौरे में टीम के कप्तान और विजयानगरम के महाराज कुमार ने उन्हें वापस भेज दिया। हालांकि इसके कारण राजनीतिक थे। लाला अगले 12 साल टीम में नहीं आ पाए। परन्तु वे घरेलू क्रिकेट में कमाल करते रहे। 
ब्रेडमैन देखते रह गए 
चयनकर्ताओं ने 1946 में इंग्लैंड के लिए उन्हें फिर से चुना। एक साल बाद टीम ने उन्हें आस्ट्रेलिया दौरे के लिए कप्तान नियुक्त किया। परन्तु वहां पर अमरनाथ के अलावा सभी गेंदबाजों की सर डॉनाल्ड ब्रेडमैन ने धज्जियां बिखेर दीं। अमरनाथ ने 39 ओवर में से 10 मैडन फेंके और 84 रन देकर 4 विकेट चटकाए। परन्तु खास बात यह रही कि उन्होंने ब्रेडमैन को हिट विकेट कर दिया। ब्रेडमैन जीवन में मात्र एक बार ही हिट विकेट हो पाए। और 185 रन बनाकर जब वे अमरनाथ की गेंद पर हिट विकेट हुए थे तो बड़ी निराशा से अपने विकटों की ओर देखते हुए पैवेलियन लौटे। 
बेटों ने बढ़ाई धरोहर आगे 
लाला की उनकी धरोहर को उनके पुत्र सुरेन्द्र अमरनाथ, मोहिंदर अमरनाथ और राजेंद्र अमरनाथ ने आगे बढ़ाया। सुरेंद्र ने भी अपने पिता की तरह पदार्पण मैच में शतक जमाया जबकि मोहिंदर ने भारत के लिए 69 टेस्ट खेले और भारत को 1983 का विश्वकप जीतने में अहम भूमिका निभाई।