कोरोना अलर्ट / पूरी दुनिया लॉकडाउन, चीन में शुरू हो गया काम, पटरी पर लौट रही जिंदगी

AajTak : Mar 26, 2020, 12:27 PM

चीन: पूरी दुनिया की करीब 20 फीसदी आबादी लॉकडाउन है। घरों में बंद है। बाजार बंद है। सरकारी दफ्तरों पर ताला लगा है। यातायात साधन रोक दिए गए हैं। लोग घरों में हैं। वहीं, जहां से कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था, अब वो राज्य सामान्य हो रहा है। चीन में अब जिंदगी पटरी पर लौट रही है। हुबेई प्रांत में लोग बाहर निकल रहे हैं। 

चीन में लोग अब काम पर जाने लगे हैं। पूरी दुनिया के कोरोना से लॉकडाउन होने के बाद चीन अब दो महीने बाद सामान्य हो पाया है। लोग घरों से निकलकर सड़कों, बाजारों, मॉल्स, अस्पताल आदि जगहों पर जा रहे हैं। 

हुबेई में यातायात पर लगाए गए प्रतिबंध खत्म कर दिए गए हैं। इससे वहां की आबादी को बहुत राहत मिली है। लोग अब ट्रेनों और बसों के टिकट कटा कर अपने लोगों से मिलने जा रहे हैं। 

दफ्तर खुल गए हैं। फैक्ट्रियां खुल गई हैं। लोग मास्क, जिपर बैग और कोरोना से लड़ने के लिए मदद करने वाली चीजे बनाने में जुट गए हैं। लोग बाहर निकल कर खुली हवा में सांस लेने के लिए सड़कों पर आ रहे हैं। 

चीन में मंगलवार को कुल 47 कोरोना के मामले सामने आए। ये वो लोग हैं जो कहीं फंसे हुए थे और अब अपने देश वापस आ रहे हैं या जा रहे हैं। पिछले हफ्ते ये संख्या 78 थी, जो अब कम हो गई है। 

वुहान शहर का लॉकडाउन 8 अप्रैल को खत्म किया जाएगा। इस समय चीन की सरकार कोरोना के उन मामलों पर ध्यान दे रही है जो दूसरे देशों से चीन में पहुंच रहे हैं। क्योंकि अब चीन में स्थानीय स्तर पर कोरोना के मामले सामने नहीं आ रहे हैं।

रेस्टोरेंट्स में अब लोग आने शुरू हुए हैं। कई रेस्टोरेंट तो एक खरीदो, एक मुफ्त पाओ का ऑफर चला रहे हैं। लाउडस्पीकर पर बोल रहे हैं। हालांकि, अब भी पूरे चीन में लोग चेहरे से मास्क नहीं हटा रहे हैं। 


जो लोग अपने काम पर लौटे हैं उन्हें सरकार द्वारा बताए गए कोरोना संबंधी नियमों का अभी भी पालन करना पड़ा रहा है। ताकि फिर से ये दिक्कत न हो।


दफ्तरों, फैक्ट्रियों में जाने वाले लोगों की रोज 30 मिनट जांच हो रही है। उन्हें सारे हेल्थ कोड्स मानने पड़ रहे हैं। उन्हें ये बताना पड़ रहा है कि वे हाई रिस्क जोन में पिछले 14 दिनों से नहीं गए हैं। 

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER