राज्य / पायलट बोले राजस्थान सरकार बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाने के लिए प्रतिबद्ध

Zoom News

Aug 15, 2019, 08:46 AM

जयपुर। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि आज देश में 5 साल से कम उम्र के बहुत से बच्चे कुपोषित है। कुपोषित बच्चे जीवन में अनेक बीमारियों से ग्रस्त रहने के कारण देश, समाज व परिवार में अपनी शत-प्रतिशत भागीदारी नहीं दे पाते है। कुपोषण को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार व समाज को मिलकर कार्य करना होगा। इसके लिए हमें संसाधनों का सदुपयोग करना होगा। श्री पायलट बुधवार को टोंक जिले के ग्राम बंमोर में राष्ट्रीय पोषण मिशन की गतिविधियों में टाटा ट्रस्ट की ओर से चलाए जा रहे आंगनबाड़ी केन्द्रों के सुदृढ़ीकरण कार्यक्रम ‘‘आओं सुनिश्चित करें‘‘ में बोल रहे थे। 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि 5 साल से छोटे बच्चों में कुपोषण एक गंभीर मुद्दा होने के बावजूद यह हमारे बीच चर्चा व चिंतन का विषय नहीं बन पाता है। इस पर उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आज इस कार्यक्रम में हमें इस मुद्दे पर बात करने का मौका मिला है। श्री पायलट ने बच्चों के पोषण के लिए पूरा बजट पारदर्शी ढंग से खर्च करने पर जोर देते हुए एक स्वस्थ राजस्थान बनाने की बात कही।

पायलट ने टाटा ट्रस्ट द्वारा 240 आंगनबाडी केन्द्रो में मूलभूत सुविधाएं, अच्छी शिक्षा, बच्चो के खिलौने, किताबे, पोषण पर कार्य करने पर खुशी प्रकट की। साथ ही राज्य सरकार के इससे जुड़े विभागों को बच्चों की बेहतरी के लिए टाटा ट्रस्ट के साथ समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए युवा पीढ़ी को दिशा देकर उनकी मेहनत और नवाचार के बल पर ग्रामीण क्षेत्र में बनने वाले उत्पादों की मार्केटिंग करने की जरूरत है। बड़े-बड़े शहरों की तरह ग्रामीण क्षेत्र में ग्रामीण माल बनाए जाए ताकि ग्रामीण उत्पाद कम लागत में अधिक मुनाफा कमा सके।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में विद्युत कनेक्शन प्रदान करने के लिए सरकार आने वाले दिनों में सकारात्मक ढंग से कार्य करेगी जिससे बच्चों और आंगनबाडी कार्मिकों को सहूलियत मिल सके। विद्युत संबंधी संसाधनों की व्यवस्था टाटा ट्रस्ट की ओर से की जाएगी। 

पायलट ने कार्यक्रम स्थल पर लगाई गई प्रदर्शनी में टाटा ट्रस्ट की ओर से किये जा रहे कार्यो का अवलोकन किया। कार्यक्रम के अन्त में पायलट ने प्रदेश के पांच जिलों में टाटा ट्रस्ट की ओर से आंगनबाड़ी केन्द्रों के सुदृढीकरण में बेहतर कार्य के लिए 20 सरपंचो, आंगनबाडी कार्यकर्ता, एएनएम एवं आशा सहयोगनियों को पुरस्कृत किया। 

कार्यक्रम को निवाई विधायक प्रशान्त बैरवा, पीपल्दा विधायक रामनारायण मीणा, टाटा ट्रस्ट के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. ईशा प्रसाद भागवत ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में पूर्व जिला प्रमुख रामविलास चौधरी, पूर्व निवाई विधायक कमल बैरवा, जिला कलेक्टर आर.सी.ढेनवाल, पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू एवं बडी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे।