बॉलीवुड / फिल्मी सितारे से में मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गांधी के विचारों पर की चर्चा

BBC : Oct 20, 2019, 07:23 AM

बॉलीवुड डेस्क | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दिल्ली में शाहरुख़ खान, आमिर ख़ान और कंगना रनौत समेत सिनेमा और कला जगत के दिग्गज सितारों से मुलाक़ात की और उनसे गांधी के विचारों पर चर्चा की.

प्रधानमंत्री मोदी ने इन हस्तियों से सिनेमा के ज़रिए महात्मा गांधी के विचारों और उनके जीवन मूल्यों का प्रचार-प्रसार करने की अपील की, ताकि युवा, गांधी के विचारों से जुड़ सकें.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी फ़िल्में, संगीत और नृत्य लोगों और समाजों को जोड़ने का एक बहुत अच्छा ज़रिया बन गया है.

इस कार्यक्रम में अभिनेता शाहरुख खान, आमिर खान, कंगना रनौत, जैकलीन फर्नांडिस, डायरेक्टर इम्तियाज़ अली, एकता कपूर, अनुराग बसु, बोनी कपूर समेत कई दिग्गज शामिल हुए थे.

सभी कलाकार भी प्रधानमंत्री से मिलकर खासे उत्साहित नज़र आए.

आमिर खान ने कहा, "प्रधानमंत्री मोदी से ये मुलाकात शानदार रही. उनके विचार सुनकर अच्छा लगा. वो बहुत ही प्रेरणादायक हैं."

कंगना रनौत ने कहा, "मुझे लगता है, ये पहली सरकार और शायद पहले प्रधानमंत्री हैं, जो कला और कलाकारों को इतना समझते हैं. मुझे लगता है कि फ़िल्म इंडस्ट्री को इससे पहले इतना सम्मान किसी ने नहीं दिया होगा. ना ही इससे पहले देश में किसी ने कलाकारों की सॉफ्ट पावर और ताक़त को पहचाना था. इसके लिए मैं अपनी पूरी इंडस्ट्री की ओर से प्रधानमंत्री की तहेदिल से शुक्रगुज़ार हूं."

एकता कपूर ने कहा कि उन्हें पहली बार ऐसा लगा कि उनकी इंडस्ट्री को उनसे ज़्यादा कोई जानता है. उन्होंने कहा, "लगा हमारी ताक़त को कोई जानता है और हमें प्रेरित कर रहा है कि समाज के लिए कुछ करें."

वहीं फिल्म प्रोड्यूसर बोनी कपूर ने कहा, "फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए आज का दिन बहुत शुभ है. बीजेपी पार्टी के आने से, ख़ासकर नरेंद्र मोदी के आने से फ़िल्म इंडस्ट्री को जो लाभ हुआ है, उसे कुछ शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता. मैं समझता हूं कि वाजपयी जी के वक्त से इस सरकार की हमेशी फ़िल्म इंडस्ट्री से सहानुभूति रही है. वाजपयी जी ने इसे एक इंडस्ट्री के तौर पर मान्यता दी. जबसे मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, उन्होंने कोशिश की है कि हमारी हर समस्या को तभी के तभी सुलझाया जाए."

डायरेक्टर अनुराग बसु ने कहा, "जब हम फ़िल्म बनाते हैं तो बार-बार मन में ख्याल आता है कि इसका मक़सद क्या है. मनोरंजन तो उद्देश्य है ही, लेकिन फ़िल्म मेकर को ये सवाल हमेशा कचोटता है. आज एक उद्देश्य मिल गया, एक रास्ता मिल गया, कुछ दिशा मिल गई, जिसकी हम सभी क्रिएटिव लोगों को ज़रूरत होती है."

डायरेक्टर इम्तियाज अली ने कहा, "गांधी जी पर फ़िल्में बनाने का आइडिया फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत अच्छी बात इसलिए है क्योंकि हमारे लिए ये एक मौक़ा होगा कि हम उनके विचारों से एकबार फिर रूबरू हो सकें. अक्सर हम गांधी-गांधी बोलते हैं, लेकिन उनकी बातों तक कभी पहुंच नहीं पाते हैं. ये अच्छा वक्त है, जब हम गांधी की ओर वापसी कर सकते हैं. इससे बदलाव आएगा."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक के दौरान फ़िल्म जगत की हस्तियों से डांडी में बने गांधी म्यूज़ियम जाने की अपील की. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि "आप लोगों को स्टेच्यू ऑफ यूनिटी भी जाना चाहिए, जहां देश और दुनिया से लोग आ रहे हैं."