India's G20 Presidency / भारत की G-20 अध्यक्षता आज से शुरू, 100 स्मारकों पर होगा ये इंतजाम

Zoom News : Dec 01, 2022, 10:11 AM
India Chairs G20 Today Update: भारत गुरुवार से अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग के प्रमुख मंच G-20 समूह की अध्यक्षता आज से शुरू हो रही है. इस खास मौके को यादगार बनाने के लिए G-20 के लोगो (Logo) को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों समेत 100 स्मारकों को 1 दिसंबर से 7 दिसंबर तक सात दिनों के लिए रोशन किया जाएगा. इन साइट्स में श्रीनगर के शंकराचार्य मंदिर से लेकर दिल्ली के लाल किला और तंजावुर के चोल मंदिर भी खास रोशनी से जगमगाते रहेंगे. इन 100 स्थलों की सूची में दिल्ली स्थित हुमायू का मकबरा और पुराना किला तो गुजरात में मोढेरा का सूर्य मंदिर, ओडिशा में कोणार्क का सूर्य मंदिर शामिल है.

200 बैठकों की मेजबानी करेगा भारत

इस साल की अध्यक्षता के दौरान, भारत 50 से ज्यादा शहरों में 32 विभिन्न क्षेत्रों के लिए काम कर रहे देशों की करीब 200 बैठकों की मेजबानी करेगा. अगले साल के इस शिखर सम्मेलन के लिए, भारत के प्रमुख उद्देश्यों की बात करें तो देश में आ रहे डिजिटल बदलाव को उजागर करने के साथ दुनिया में पर्यावरण के समुचित और सतत विकास के लिए सस्ती टेक्नालजी मुहैया कराने पर भी जोर दिया जाएगा.

1999 में हुआ गठन

एशिया में छाए वित्तीय संकट के बाद साल 1999 में वैश्विक आर्थिक और वित्तीय मुद्दों पर गंभीर चर्चा करने के लिए वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों को मंच दिलाने के मकसद से G-20 की स्थापना की गई थी. जी-20 यानी 20 देशों का यह समूह दुनिया की प्रमुख विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं का एक अंतर सरकारी मंच है. इस खास समूह में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य के साथ मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ (EU) भी शामिल हैं.

G-20 अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का प्रमुख मंच है, जो वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का लगभग 85 फीसदी वैश्विक व्यापार का 75 फीसदी से अधिक और दुनिया की लगभग दो-तिहाई आबादी का प्रतिनिधित्व करता है. 

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER