एजुकेशन / आवेश में आकर टीचर ने क्लास के 20 बच्चों को छड़ी से मारा, 15 अस्पताल में

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 03:47 PM

मूली. तहसील के घोणिया गांव की प्राथमिक शाला में बुधवार को एक शिक्षक को इतना अधिक गुस्सा आया कि उसने कक्षा के 20 छात्रों को छड़ी से पीटना शुरू कर दिया। इससे बच्चों की हालत खराब हो गई, 15 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इस शिक्षक का नाम देवेंद्र झाला है, उसकी पत्नी दक्षा भी इसी स्कूल में टीचर है। दोनों 13 साल से इसी स्कूल में पदस्थ हैं।

खुले हाथ की पिटाई

शिक्षक दम्पति घोलिया गांव में ही रहते हैं। बुधवार की शाम को 4 बजे स्कूल के कक्षा छठी से 8 वीं के छात्र मैदान में खेल रहे थे। तब शिक्षक देवेंद्र झाला वहां पहुंचे। उन्होंने बच्चों से खेलने के लिए मना करते हुए क्लास में जाने को कहा। इससे बच्चे क्लास में चले गए। शाम 5 बजे स्कूल की छुट्टी होने के बाद शिक्षक ने क्लास में बच्चों को छड़ी से मारना शुरू किया। बच्चों को मारते हुए टीचर यही कह रहे थे कि तुम्हें खेलने के लिए किसने कहा था। शिक्षक की मार से 15 बच्चों को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। बच्चों को देखने सरपंच जशराज भाई सातोला अस्पताल पहुंचे थे।

हमें दूसरे शिक्षक ने खेलने के लिए कहा था

इस संबंध में छात्रों का कहना था कि हमें दूसरे शिक्षक ने मैदान में खेलने के लिए कहा था। इसलिए हम सब खेलने चले गए। बाद में देवेंद्र सर ने हमें क्लास रूम में बंद कर दिया और छड़ी से खूब मारा। सरपंच का कहना था कि इस घटना की जानकारी सुरेंद्रनगर के शिक्षा विभाग को दी गई है, किंतु वहां से कोई नहीं आया।

टीचर को कारण बताओ नोटिस

मूली तहसील के घोलिया गांव की इस घटना की जानकारी मिलते ही गुरुवार की सुबह स्कूल पहुंचा था। बहरहाल शिक्षक देवेंद्र झाला को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। उन्हें दो दिनों के अंदर जवाब देने को कहा गया है। इसके बाद उन पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। एच.एच.चौधरी, जिला प्राथमिक शिक्षाधिकारी