दुनिया / लेबनान धमाके में इस्तेमाल हुआ था 2750 टन सोडियम नाइट्रेट, खुद पीएम ने की पुष्टि

NavBharat Times : Aug 05, 2020, 08:20 AM
बेरूत: मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में दो तेज धमाके हुए। जिसने भी इन्हें देखा उसके होश उड़ गए। धमाकों की वजह से पहले धुआं आसमान पर छाया और फिर लाल हो गया। अब तक मिली जानकारी के अनुसार 70 से भी अधिक लोगों की इस धमाके में मौत हो चुकी है, जबकि 3700 से भी अधिक लोग घायल हैं। लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिएब ने कहा है कि यह विस्फोट 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट से हुआ था।

धमाका इतना तेज था कि आस-पास सब तरफ आग लग गई, कारें पलट गईं और लोगों के घरों में खिड़की-दरवाजों के शीशे टूट गए। लेबनान के सामान्य सुरक्षा के प्रमुख अब्बास इब्राहिम ने कहा कि हो सकता है कि धमाका अत्यधिक विस्फोटक सामग्री से हुआ हो, जिसे कुछ समय पहले एक जहाज से जब्त किया गया था और बंदरगाह पर रखा गया था। स्थानीय टेलीविजन चैनल एलबीसी ने कहा कि यह सामग्री सोडियम नाइट्रेट थी और यही बात अब लेबनान के पीएम भी कह रहे हैं।

बताया गया है कि ऐसे दो धमाके यहां हुए हैं जिनमें से एक पोर्ट इलाके में और एक शहर के अंदर हुआ है। ये धमाके इतने जोरदार थे कि लगभग पूरे शहर की इमारतों को नुकसान पहुंचा है। शहर की गलियों में धुआं घुस गया है। करीब 15 मिनट के अंतराल पर एक के बाद एक दो धमाके होने से सुरक्षा पर सवाल भी खड़ा हो गया है।

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे अलग-अलग वीडियो में दिखाई दे रहा है कि ये धमाके कितने भयानक थे। इनकी चपेट में आकर घायल हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। पूरे शहर में कांच टूटा पड़ा दिख रहा है और लोग बदहवास घूम रहे हैं। फिलहाल किसी को इस बारे में जानकारी नहीं है कि आखिर ये धमाके हुए कैसे। रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस पोर्ट के पास एक धमाका हुआ, वहां वेयरहाउस भी है।


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER