West Bengal / देसी बम को गेंद समझकर खेल रहे थे बच्चे, अचानक हुआ विस्फोट, एक की मौत

Zoom News : Oct 25, 2022, 06:09 PM
कोलकाता से करीब 35 किलोमीटर उत्तर में बैरकपुर के पास मंगलवार सुबह देसी बम फटने से सात साल के बच्चे की मौत हो गई और 10 साल का एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। बच्चे बम को गेंद समझकर खेल रहे थे तभी उसमें विस्फोट हो गया। घायल बच्चे को पहले भाटपारा के सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे कोलकाता के कलकत्ता मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। बाद में पुलिस और राज्य आपराधिक जांच विभाग के बम निरोधक दस्ते ने उसी स्थान से एक और बिना फटा कच्चा बम बरामद किया। बम रेलवे ट्रैक के किनारे एक झाड़ी में छिपाए गए थे। नैहाटी के सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “घटना मंगलवार सुबह 6:30 से 7 बजे के बीच की है। स्थानीय लोगों ने बताया कि बम विस्फोट के समय दो बच्चे खेल रहे थे। उन्होंने बम को गेंद समझ लिया था। पुलिस ने एक जांच शुरू कर दी है।” 

घायल लड़के की दादी ने कहा, “मेरा पोता सुबह उठा और रेलवे ट्रैक के किनारे खेलने चला गया। चूंकि कल रात काली पूजा थी, इसलिए वह और उसका दोस्त यह पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि कहीं कोई बिना जला हुआ पटाखा तो नहीं बचा है। विस्फोट में उसका हाथ फट गया था।” काकीनाडा बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। 

बैरकपुर के औद्योगिक क्षेत्र में स्थित काकीनाडा, भाटपारा और जगतदल जैसे कई क्षेत्र अतीत में टीएमसी और भाजपा के बीच राजनीतिक झड़पों के लिए सुर्खियों में रहे हैं। बैरकपुर के सांसद और पूर्व राज्य भाजपा उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह इस साल की शुरुआत में टीएमसी में फिर से शामिल हो गए थे। वह 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे। सितंबर 2021 में सिंह के घर पर बम भी फेंके गए थे। उनके करीबी मनीष शुक्ला की अक्टूबर 2020 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

मंगलवार की घटना को लेकर भाजपा ने राज्य में कानून व्यवस्था के बिगड़ते हालातों पर सत्तारूढ़ टीएमसी पर निशाना साथा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा, “कोई भी पूरे पश्चिम बंगाल में बम और अन्य हथियार ढूंढ़ सकता है। कभी ये (हथियार) बिहार के मुंगेर में बनाए जाते थे लेकिन अब इन्हें यहीं बनाया जाता है। इन सभी का इस्तेमाल 2023 के पंचायत चुनाव के दौरान विपक्ष को चुप कराने के लिए किया जाएगा। यह साबित करता है कि चुनाव कितना खूनी हो सकता है।” 

भाजपा के आरोपों पर टीएमसी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा, “ऐसी अफवाहें हैं कि मजूमदार लंबे समय तक राज्य भाजपा अध्यक्ष के रूप में नहीं रह सकते हैं और इसलिए वह अपनी छाप छोड़ने के लिए इस तरह के बयान दे रहे हैं। पुलिस जांच कर रही है। उस क्षेत्र में समय के साथ ऐसी घटनाओं की संख्या में कमी आई है।”

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER