स्टार्टअप / अब बाइक,कार की तरह किराए पर मिल सकेंगी बस भी, अभीबस ने शुरू की सेवा

Zoom News : Dec 24, 2019, 02:04 PM
नई दिल्ली. अगर आप अपने पूरे ग्रुप के साथ ट्रेवल करने जाना चाहते हैं तो आपको बस में सीट बुक कराने की जरूरत नहीं है। आप पूरी बस ही किराए पर लेकर जा सकते हैं। ऑन लाइन बस टिकिटिंग कंपनी अभीबस डॉट कॉम ने अपनी तरह की पहली अवधि आधारित किराए की सेवा 'रेंट ए बस’ लॉन्च करने की घोषणा की, जिसमें लोगों को हजारों बसों तक सीधी, पारदर्शी और परेशानी रहित पहुंच मिलेगी। इस सेवा के माध्यम से 14 से लेकर 52 सीटर तक की मिनी बसों, टैम्पो और बसों को किराए पर लिया जा सकेगा।

10 हजार बसें जुड़ी हैं कंपनी के साथ

कंपनी ने बताया कि इस समय AbhiBus.com का 500 बस ऑपरेटर्स के साथ समझौता हुआ है और इसके विशाल बेड़े में 10हजार बसें शामिल हैं और अगले छह माहीनों में 1500 बस ऑपरेटर्स इसमें और जुड़ जाएंगे। भारत और भारत के बाहर के देशों के उपभोक्ता देश के विभिन्न भागों की यात्रा, पर्यटन स्थलों की यात्रा के लिए अभी बस ऐप या कंपनी की वेबसाइट www.abhibus.com पर जाकर बस की क्षमता, एसी या नान एसी, स्लीपर या नान स्लीपर बस, वॉल्वो, मिनी वैन, एमयूवी आदि की बुकिंग करा सकते हैं। इसमें उपभोक्ता को बताना होगा कि वे किस तारीख के लिए और कितने समय के लिए सेवा बुक कराना चाहता है। इसके लिए कई ऐसी जगहों के भी विकल्प होंगे जहां से उपभोक्ताओें को लिया जा सकेगा और छोड़ा जा सकेगा। इस सेवा में अन्य खासियतों के साथ ही पारदर्शी मूल्य सेवा भी शामिल होगी।

30 हजार रुपए की बुकिंग कराने पर मिलेगा सैमसंग फोन

ग्राहक लाभ पहल के एक हिस्से के रूप में, 31 जनवरी 2020 तक AbhiBus ऑनलाइन प्लेटफार्मों (ऐप और वेबसाइट) के माध्यम से पहली बार 'रेंट ए बस’ सर्विस में न्यूनतम 30 हजार रुपए की बुकिंग करने वाले ग्राहकों को एक एक नया सैमसंग गैलेक्सी एम 10 स्मार्टफोन मिलेगा। आमतौर पर किराए की बसों की सेवा का उपयोग छुट्टियों, तीर्थयात्राओं, शादियों, कॉर्पोरेट आउटिंग, अत्यधिक लोकप्रिय दर्शनीय स्थलों के लिए समूह यात्रा के लिए किया जाता है। इनमें अपेक्षाकृत कम दूरी पर कई स्थान होते हैं; जैसे कि दिल्ली-आगरा-जयपुर त्रिकोण, मुंबई–शिरडी, हैदराबाद -तिरुपति, दिल्ली- वैष्णो देवी और ऐसी ही अन्य छोटी यात्राएं आदि।

अव्यवस्थित है देश में बस किराए पर लेने का बाजार

कंपनी ने बताया कि भारत में किराए पर बस लेने का बाजार बेहद अव्यवस्थित है और ऑफलाइन मोड पर काम करता है। एक पूरी बस की बुकिंग करने और उसका उपयोग करने में यह सेवा प्रदान करने वाले को खोजना और फिर उसके द्वारा कौन से ऑफर दिए जा रहे हैं यह पता करना ही अपने आप में जटिलताओं से भरा है। AbhiBus.com के संस्थापक और सीईओ सुधाकर रेड्डी ने के कहा कि ‘एक ग्राहक के लिए अत्यंत सुविधा और परेशानी मुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के हमारे प्रयास ने हमें इस पहल को क्रियान्वित करने में सक्षम बनाया है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER