PM Modi France Visit / पीएम मोदी हुए फ्रांस के लिए रवाना, इन मुद्दों पर होगी बात, नई ऊंचाई पर पहुंचेंगे दोनों देशों के रिश्ते

Zoom News : Jul 13, 2023, 08:05 AM
PM Modi France Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस रवाना हो गए हैं. ये उनका 2 दिन का दौरा है. पीएम का यह दौरान कई मायनों में खास होने जा रहा है. इस दौरान पीएम मोदी शुक्रवार यानी 14 जुलाई को पेरिस में होने वाली बैस्टिल-डे परेड में विशिष्ट अतिथि के तौर पर हिस्सा लेंगे. वहीं पीएम के इस दौरे पर भारत-फ्रांस के बीच ऐतिहासिक रक्षा सौदा भी होने जा रहा है.

बता दें कि पेरिस में पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय समुदाय के लोगों को भी संबोधित करेंगे. जानकारी के मुताबिक यह यह दूसरी बार है जब फ्रांस ने किसी भारतीय नेता को बैस्टिल-डे कार्यक्रम में गेस्ट ऑफ ऑनर बनाया है. दरअसल बैस्टिल डे कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री मोदी का औपचारिक स्वागत समारोह होगा. उसके बाद पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रां की द्विपक्षीय बातचीत होगी और दोनों देशों के बीच समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. मोदी की फ्रांस की प्रधानमंत्री एलिजाबेथ बोर्न से मुलाकात होगी. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन उनके लिए डिनर आयोजित करेंगे.

किन मुद्दों पर दोनों देशों के बीच होगी बातचीत

सुरक्षा, अंतरिक्ष सहयोग, सिविल न्यूक्लियर डोमेन में जुड़ाव, प्रौद्योगिकी साझेदारी, आतंकवाद के खिलाफ साझेदारी, साइबर सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, ऊर्जा, अंतर्राष्ट्रीय सोलर गठबंधन, दोनों देशों के उद्योग और व्यापार क्षेत्रों के बीच सप्लाई चेन एकीकरण जैसे मुद्दे दोनों नेताओं की द्विपक्षीय बातचीत के तहत चर्चा का हिस्सा बनेंगे.

भारत-फ्रांस के बीच स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप

भारत-फ्रांस के बीच आर्थिक संबंध स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप के प्रमुख केंद्रों में से एक है. यह न केवल व्यापार, उद्योग और निवेश सहयोग के पारंपरिक क्षेत्रों तक फैला हुआ है, बल्कि नए और उभरते डोमेन पर भी तेजी से ध्यान केंद्रित किया जा रहा है. इसमें स्टार्टअप भी शामिल हैं. उदाहरण के लिए, विवाटेक में भारत की बहुत मजबूत भागीदारी रही है. बता दें कि यह फ्रांस में टेक्नोलॉजी, इनोवेशन और स्टार्टअप कंपनियों की भागीदारी के मंचों में से एक है.

दोनों देशों के बीच कई अहम समझौते

इसके अलावा रक्षा डील को लेकर दोनों देशों के बीच भी कई अहम समझौते हो सकते हैं. वहीं हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को लेकर भी दोनों देशों के बीच बात हो सकती है. इसके साथ ही रूस-यूक्रेन युद्ध भी बातचीत का एक मुद्दा हो सकता है. साथ ही जी 20 समिट को लेकर भी दोनों देशों के बीच अहम बातचीत हो सकती है.

26 और राफेल विमानों की खरीद का हो सकत है एलान

पीएम मोदी के इस दौरे की भारत के लिए कितनी अहमियत है, इसका अंदाजा विदेश सचिव विनय क्वात्रा के बयान से लगाया जा सकता है। विदेश सचिव ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी की यह फ्रांस यात्रा काफी महत्वपूर्ण होगी और आने वाले वर्षों में दोनों देशों के सामरिक गठजोड़ के लिए ‘नये मानदंड’ तय करेगी। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के बीच बातचीत रक्षा संबंधों को बढ़ाने पर केंद्रित रहने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि भारत द्वारा राफेल के नौसेना प्रारूप के 26 विमानों की खरीद के लिए आवश्यक तैयारियां की गयी है ताकि इसकी घोषणा की जा सके।

बैस्टिल डे समारोह में विशिष्ट अतिथि होंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी के फ्रांस दौरे के दौरान राफेल प्लेन के इंजन के संयुक्त विकास से जुड़े सौदे पर भी बात आगे बढ़ सकती है। भारत की बढ़ती ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मोदी 14 जुलाई को फ्रांस में बैस्टिल दिवस समारोह में विशिष्ट अतिथि होंगे। इसमें भारतीय सेना के तीनों अंगों की एक टुकड़ी भी हिस्सा ले रही है। इस यात्रा के दौरान फ्रांस के साथ सामारिक, वैज्ञानिक, अकादमिक और आर्थिक सहयोग जैसे विविध क्षेत्रों में भविष्य के सहयोग का रास्ता तलाशने पर भी चर्चा होगी। इसमें रक्षा, अंतरिक्ष, कारोबार एवं निवेश के क्षेत्र शाामिल हैं।

स्कॉर्पिन पनडुब्बी की खरीद को मिल सकती है मंजूरी

बैस्टिल डे समारोह में हिस्सा लेने के लिए भारतीय सशस्त्र बलों की 269 सदस्यीय तीनों सेनाओं की टुकड़ी दो सी-17 ग्लोबमास्टर विमानों में सवार होकर गुरुवार को पेरिस के लिए रवाना हुई थी। इसमें फ्रांसिसी लड़ाकू विमानों के साथ भारतीय वायु सेना के कम से कम 3 राफेल लड़ाकू विमान भी हिस्सा लेंगे। राफेल और विमानों के इंजन से जुड़े प्रोजेक्ट के अलावा डीएसी तीन अतिरिक्त स्कॉर्पिन पनडुब्बी खरीद को भी मंजूरी दे सकती है। सूत्रों ने बताया कि विभिन्न देशों के साथ भारत के रक्षा सहयोग के ‘संदर्भ ढांचे’ में बदलाव आया है और ‘मेक इन इंडिया’ पहल पर जोर दिया गया है, ऐसे में फ्रांस भी इसका अनुसरण करेगा।

आज शाम भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे मोदी

आज गुरुवार को पीएम मोदी का फ्रांस की सीनेट के अध्यक्ष गरार्ड लार्चर, प्रधानमंत्री लिसाबेथ बार्न से मिलने और भारतीय समुदाय को संबोधित करने का कार्यक्रम है। शाम में राष्ट्रपति मैक्रों, प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में एक प्राइवेट डिनर पार्टी की मेजबानी करेंगे। शुक्रवार को पीएम मोदी बैस्टिल डे समारोह में शामिल होंगे और साथ ही फ्रांस की नेशनल एसेम्बली के अध्यक्ष याल ब्राउनपिवेट से मिलेंगे। उनका कई नेताओं एवं कारोबारियों से मिलने का भी कार्यक्रम है। शुक्रवार को ही एलिसी पैलेस में प्रधानमंत्री मोदी का पारंपरिक स्वागत किया जायेगा और इसके बाद मोदी एवं मैक्रों के बीच शिष्टमंडल स्तर की वार्ता होगी।

दोनों नेताओं के बीच कई मुद्दों पर होगी बातचीत

पीएम मोदी और राष्ट्रपति मैक्रों भारत-फ्रांस सीईओ फोरम में भी हिस्सा लेंगे। दोनों नेता सामरिक गठजोड़ के महत्वपूर्ण स्तम्भों की समीक्षा करेंगे जिसमें सुरक्षा, असैन्य परमाणु प्रौद्योगिकी, आतंकवाद से मुकाबला, साइबर सुरक्षा, अंतरिक्ष, जलवायु परिवर्तन आदि शामिल है। माना जा रहा है कि भारत और फ्रांस इस मौके पर अंतरिक्ष में नये क्षेत्रों में सहयोग के रास्ते तलाश कर सकते हैं। भारत पहले ही वायुसेना के लिए फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीद चुका है। भारतीय नौसेना स्वदेश में निर्मित विमानवाहक पोत INS विक्रांत के लिए डेक-आधारित 26 लड़ाकू विमान खरीदने पर विचार कर रही है। इसके अलावा 3 अतिरिक्त स्कॉर्पिन पनडुब्बी के ऑर्डर पर भी बातचीत हो सकती है।

भारत-फ्रांस के बीच होगी बड़ी डील

  • मीडिया रिपोर्ट से मिली जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी के फ्रांस दौरे पर 26 राफेल विमान और तीन स्कॉर्पीन पनडुब्बियों की खरीद को लेकर डील होनी है.
  • पिछले 25 सालों में भारत को अलग-अलग तरह के रक्षा उत्पाद बेचने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश फ्रांस है. इस दौरे पर राफेल विमानों को लेकर बड़ी डील होगी.
  • INS विक्रांत को फाइटर प्लेन से लैस करने के लिहाज से यह डील बेहद अहम है. राफेल का एम वर्जन काफी एडवांस्ड है. आईएनएस से उड़ने के लिए इसमें ज्यादा ताकतवर इंजन है.
  • इस दौरे पर नेवी के लिए राफेल एम के साथ 3 स्कॉर्पीन क्लास पनडुब्बी खरीदने का भी सौदा किया जा सकता है. इस डील में 90 हजार करोड़ रुपये की होगी.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER