देश / किसानों ने की दिल्ली की सीमाओं से टेंट हटाकर अपने घरों के लिए रवाना होने की शुरुआत

Zoom News : Dec 11, 2021, 02:12 PM
Farmers Start Heading Home:  किसान आंदोलन स्थगित करने के बाद आज किसान संगठन विजय दिवस मना रहे हैं। देशभर में सभी धरना स्थलों, टोल प्लाजा पर विजय दिवस मनाने बाद प्रदर्शनकारी किसान सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर और तमाम विरोध स्थलों से वापस लौट रहे हैं। प्रदर्शनकारी सीमाओं अपना सामान बांधकर ट्रकों पर लाद चुके हैं और यहां लगे टेंट अब उखड़ चुके हैं। किसान यहां से हटने के बाद 13 दिसंबर को अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में अरदास करेंगे और अपने घरों को लौटेंगे। किसानों ने कहा है कि ये आंदोलन खत्म नहीं हुआ है बल्कि स्थगित हुआ है।

भव्य तरीके से घर वापसी

दिल्ली, यूपी, पंजाब, हरियाणा तथा राजस्थान और मध्य प्रदेश के विभिन्न जगहों पर बैठे किसान धूमधाम से विजय यात्रा के साथ रवानगी कर रहे हैं। पंजाब छोटे भाई हरियाणा को पहले विदा करेगा। गांव में पहुंचकर किसान गुरुद्वारा में मत्था टेकेंगे और लग्जरी ट्रालियों  को गांव में रखा जाएगा ताकि आने वाली पीढियां आंदोलन का संघर्ष याद रखे। प्रत्येक जिले की सीमा पर किसानों का जोरदार स्वागत होगा तथा यहां से खुशी खुशी ढोल नगाड़ों के साथ घर की तरफ वापसी होगी।

गाजीपुर बॉर्डर पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा, 'किसानों का एक बड़ा समूह कल सुबह 8 बजे क्षेत्र खाली कर देगा। आज की बैठक में, हम बात करेंगे, प्रार्थना करेंगे और उन लोगों से मिलेंगे जिन्होंने हमारी मदद की। लोगों ने खाली करना भी शुरू कर दिया है, इसमें 4-5 दिन लगेंगे। मैं 15 दिसंबर को निकलूंगा।'

किसानों की घर वापसी

दिल्ली की समाओं वाले प्रदर्शन स्थलों पर शुक्रवार को सीढ़ी, तिरपाल, डंडे और रस्सियां ​​बिखरी पड़ी थीं क्योंकि कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन खत्म होने के बाद किसानों ने अपने तंबू उखाड़ लिए, अपना सामान बांध कर उन्हें ट्रकों पर लादना शुरू कर दिया था। शुक्रवार को बड़ी संख्या में ट्रैक्टरों के रवाना होने से भारी यातायात जाम लग गया। इसी तरह प्रदर्शन की शुरुआत में तब लंबा जाम लग गया था जब विभिन्न राज्यों से प्रदर्शनकारियों ने यहां के लिए कूच किया था।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER