Delhi Liquor Scam / कोर्ट में केजरीवाल से अपना नाम सुन सौरभ भारद्वाज और आतिशी चौंक गए, जानें पूरी घटना

Zoom News : Apr 01, 2024, 05:40 PM
Delhi Liquor Scam: शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आज ईडी की रिमांड खत्म होने के बाद 15 दिन की न्यायिका हिरासत में भेज दिया गया। उन्हें तिहाड़ जेल में रखा जाएगा। ईडी ने केजरीवाल की रिमांड खत्म होने के बाद उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया। ED की ओर से ASG राजू और केजरीवाल की ओर से रमेश गुप्ता ने पैरवी की।

सुनीता भी सौरभ की तरफ देखने लगीं

इस दौरान कोर्ट में ईडी की ओर से एक चौंकाने वाला खुलासा किया गया। ईडी की ओर से ASG राजू ने बताया कि केजरीवाल ने पूछताछ में आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम लिया। इस दौरान एक हैरान कर देने वाला नजारा सामने आया। दरअसल, जिस समय आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम लिया गया उस वक्त वह कोर्ट रूम में ही मौजूद थे। अपना नाम सुनकर सौरभ एकदम चौंक गए। उन्होंने अपने साथ खड़ी अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल की तरफ देखा। सुनीता ने भी सौरभ की तरफ देखा।

कोर्ट में इनका पहली बार लिया गया नाम

ASG राजू ने कोर्ट से कहा कि केजरीवाल ने पूछताछ में बताया कि विजय नायर मुझे नहीं, बल्कि आतिशी को रिपोर्ट करता था। उन्होंने कहा कि विजय नायर केजरीवाल के करीबी रहे हैं। केजरीवाल ने पूछताछ में कहा कि नायर उन्हें रिपोर्ट नहीं करता था, बल्कि वो आतिशी और सौरभ भारद्वाज को करता था। आबकारी मामले में आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम पहली बार कोर्ट में लिया गया है। हालांकि, जब आबकारी नीति लाई ग‌ई तब दोनों ही मंत्री नहीं थे, केवल विधायक और प्रवक्ता थे।

क्या है आरोप, केजरीवाल की गिरफ्तारी क्यों?

ED का दावा है कि दिल्ली शराब नीति को तैयार करने और लागू करने में भ्रष्टाचार हुआ है। ईडी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मामले में मुख्य साजिशकर्ता करार दिया है। शराब नीति मामले में ही पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और संजय सिंह जेल में हैं। ईडी का कहना है कि दिल्ली शराब नीति से अर्जित किए गए पैसे का आम आदमी पार्टी ने गोवा विधानसभा चुनाव और अन्य कामों के लिए इस्तेमाल किया है। वहीं, आम आदमी पार्टी (AAP) का इन तमाम आरोपों से इनकार करते हुए कहना है  कि केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार करने से रोकने के लिए गिरफ्तार किया गया है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER