बॉलीवुड / सुशांत सिंह राजपूत के फैंस ने रणवीर सिंह पर लगाया एक्टर का मज़ाक उड़ाने का आरोप, जानिए वजह

Zoom News : Nov 20, 2020, 10:01 PM
बॉलीवुड डेस्क | सोशल मीडिया में शरारती तत्वों द्वारा कई बार ऐसी सूचनाएं फैला दी जाती हैं, जिनमें कोई तथ्य नहीं होता और इसकी वजह संवेदनशील और समझदार लोगों को दिक्कत हो जाती है। ऐसे ही एक मामले में अब एक स्नैक्स ब्रैंड के विज्ञापन को सुशांत से जोड़कर रणवीर सिंह और ब्रैंड के बॉयकॉट की मुहिम चलायी जा रही है जिसका सुशांत के फैंस का एक वर्ग विरोध कर रहा है। 

स्नैक्स ब्रैंड के वीडियो में दिखाया गया है कि घर में हो रही पार्टी में आये मेहमान रणवीर से पूछते हैं कि बेटा आगे का क्या प्लान है। ऐसे सवालों से आज़िज़ आकर वो ऐसा वाक्य बोलते हैं, जिससे सामने वाले चुप हो जाएं। वाक्य है- पैराडॉक्सियल फोटोन्स ऑफ़ अतरंगी एलगोरिदम को ई इक्वल्स एमसी स्क्वायर में लगाकर इंटरस्टेलर मित्र मंडल कॉन्फ्रेंस के एलियंस की फीलिंग्स मैच करने का प्लान है। अब इस वाक्य से सुशांत के कुछ फैंस को लग रहा है कि उनका मज़ाक उड़ाया गया है, जबकि इसका सुशांत से सीधा कोई कनेक्शन नहीं है। कुछ ट्वीट्स देखिए- 

ऐसे कई ट्वीट्स में बिंगो के बॉयकॉट की बात भी की जा रही है। मामला इतना गर्माया कि ब्रैंड को स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा। डीएनए के अनुसार, कम्पनी द्वारा जारी आधिकारिक स्टेटमेंट में कहा गया कि यह विज्ञापन पिछले साल सुशांत की मौत से काफ़ी पहले ही शूट हुआ था। स्टेटमेंट में कहा गया- बिंगो के विज्ञापन को लेकर बिल्कुल झूठ, भ्रामक और शरारती संदेश सोशल मीडिया में फैलाए जा रहे हैं कि विज्ञापन एक स्वर्गीय बॉलीवुड सेलेब्रिटी का मज़ाक उड़ा रहा है। ऐसे संदेश जानबूझकर भ्रामक सूचनाएं फैला रहे हैं। हमारी आपसे गुज़ारिश है कि इसके झांसे में ना आएं। विज्ञापन अक्टूबर 2019 में शूट किया गया था। कोविड-19 की वजह से बिंगो उत्पादों के लॉन्च में देरी की वजह से इस साल प्रसारित किया जा रहा है। 

वैसे सुशांत के कुछ और फैंस ने विज्ञापन में दिखाये गये वैज्ञानिक शब्दों को स्वर्गीय एक्टर से जोड़ने पर आपत्ति ज़ाहिर की। उनका कहना है कि इन शब्दों पर किसी का कॉपीराइट नहीं है। बचपन से स्कूल में हम सबने पढ़े हैं।

वैसे, यह पहली बार नहीं है, जब सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर कुछ शरारती तत्वों ने सोशल मीडिया में भ्रामक सूचनाएं फैलाकर बवाल मचाया हो। अक्षय कुमार समर्थित गेम FAU-G को सुशांत से जोड़कर इसे उनके दिमाग़ की उपज बताकर सोशल मीडिया में ख़ूब ट्रोलिंग की थी। आख़िरकार, गेम बनाने वाली कम्पनी ने ऐसे तत्वों को रोकने के लिए अदालत की शरण ली। 

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER