देश / 59 लाख कर्मचारियों को मिला इस योजना का लाभ, सरकार ने जमा किए 895 करोड़ रुपये

Zee News : Jun 03, 2020, 05:25 PM
नई दिल्लीः कोरोना वायरस संक्रमण से हुए लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार ने हर वर्ग को फायदा पहुंचाने की कोशिश की है। वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 2 जून तक करीब 42 करोड़ लोगों को फायदा मिल चुका है। ऐसे लोगों के खाते में सरकार कुल 53,248 करोड़ रुपये डाल चुकी है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉकडाउन के शुरुआती चरण में इस योजना की घोषणा की थी। मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक 20,344 करोड़ रुपये जन धन योजना के तहत महिलाओं के खाते में डाले गए हैं। इन महिलाओं को सरकार की तरफ से प्रति माह 500 रुपये की राशि दी गई है। इससे करीब 20.05 करोड़ महिलाओं को फायदा पहुंचा है।

वहीं विधवा, दिव्यांग और सीनियर सिटीजंस के खाते में 2814 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। इससे करीब 2।81 करोड़ लोगों को लाभ मिला है।

ईपीएफ से निकाली 4725 करोड़ राशि

पैकेज में लोगों को ईपीएफ खाते से भी पैसा निकालने की सुविधा दी गई थी। 2 जून तक करीब 16।1 लाख अंशधारक कुल 4725 करोड़ रुपये की राशि को निकाल चुके हैं। वहीं सरकार ने भी 59।23 लाख कर्मचारियों के खाते में ईपीएफ का योगदान दिया है, जिसके तहत करीब 895 करोड़ रुपये की राशि दी गई है। 

किसानों के खाते में डाले गए 2 हजार रुपये

इस योजना के तहत ही पीएम किसान सम्मान स्कीम में रजिस्टर्ड किसानों को 2 हजार रुपये की मदद दी गई। देश भर के कुल 8।19 करोड़ किसानों को सरकार ने कुल 16,394 करोड़ रुपये खाते में ट्रांसफर किए हैं। 

इसके अलावा रियल एस्टेट सेक्टर में लगे मजदूरों के खाते में भी पैसा सरकार ने ट्रांसफर किया है। इससे देश भर में कार्यरत 2।3 करोड़ मजदूरों के खाते में करीब 4313 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। 

जहां तक गरीब लोगों को राशन देने की बात है तो अप्रैल माह में करीब 73।86 करोड़ लोगों को 36।93 लाख मीट्रिक टन खाद्यान वितरित किया गया। मई माह में कुल 65।85 करोड़ लाभार्थियों को 32।92 लाख मीट्रिक टन खाद्यान और जून में अभी तक 7।16 करोड़ लाभार्थियों को 3।58 लाख मीट्रिक टन राशन उपलब्ध कराया गया है।  इसके साथ ही 17।9 करोड़ लाभार्थियों को 1।91 लाख मीट्रिक टन दालें उपलब्ध करा दी गई हैं। 

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER