इंडिया / बीएस-6 पेट्रोल और डीजल 1 मार्च 2020 से ही मिलना हो जाएगा शुरू, किया 70,000 करोड़ रुपये का निवेश

AMAR UJALA : Oct 09, 2019, 10:13 AM

नई दिल्ली | सरकार ने देशभर में भारत स्टेज-6 (बीएस-6) मानक के पेट्रोल और डीजल की आपूर्ति शुरू करने के लिए भले ही एक अप्रैल 2020 की तारीख तय की हो, लेकिन पेट्रोल पंपों पर यह ईंधन 1 मार्च, 2020 से ही मिलना शुरू हो जाएगा। तेल विपणन कंपनियों ने इसके लिए युद्घ स्तर पर तैयारी शुरू कर दी है। बीएस-4 से बीएस-6 मानक के ईंधन के उत्पादन के लिए सरकारी तेल विपणन कंपनियां करीब 70,000 करोड़ रुपये का निवेश कर रही हैं।

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उनकी कुछ रिफाइनरियों में बीएस-6 मानक के ईंधन का उत्पादन शुरू हो गया है। अन्य में अतिरिक्त शट-डाउन लेकर चरणबद्ध तरीके से काम शुरू किया जा रहा है।

दिल्ली के पास पानीपत और मथुरा में तो पहले से ही बीएस-6 मानक के पेट्रोल और डीजल का उत्पादन हो रहा है। उनकी तैयारी है कि फरवरी 2020 तक सभी रिफाइनरी नए मानक के ईंधन के उत्पादन को तैयार हो जाएं। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में पिछले साल से जबकि पूरे एनसीआर में 1 अक्तूूबर से इस मानक के पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति शुरू कर दी गई है।

इसलिए एक महीने पहले शुरू होगी आपूर्ति

सरकार की तय डेडलाइन से एक महीने पहले की आपूर्ति शुरू करने के पीछे कंपनियों का अपना अलग गणित है। उनका कहना है कि अभी पेट्रोल पंप की टंकियों या प्रोडक्ट पाइपलाइन में बीएस-4 मानक का ईंधन भरा हुआ रहेगा। उसमें बीएस-6 मानक का ईंधन डालने से पहले पूरी तरह सफाई नहीं हो सकती, क्योंकि इससे आपूर्ति बाधित हो जाएगी। लिहाजा एक महीने पहले ही उसी टैंक या पाइपलाइन में उच्च मानक का ईंधन डालना शुरू करेंगे, ताकि धीरे-धीरे पुराने मानक का ईंधन निकल जाए। ऐसे में तय समय एक अप्रैल, 2020 से देशभर में इसी मानक का शत-प्रतिशत ईंधन मिलेगा।

कई शहरों मेें अभी से मिल रहा नया ईंधन

दिल्ली में बीएस-6 मानक के पेट्रोल-डीजल की बिक्री एक अप्रैल, 2018 से ही शुरू हो गई है, जबकि पूरे एनसीआर में भी चरणबद्ध तरीके से इसकी बिक्री शुरू चुकी है। सबसे पहले, एक अप्रैल 2019 से राजस्थान के चार जिलों- अलवर, भरतपुर, करौली और धौलपुर तथा उत्तर प्रदेश के एनसीआर में पड़ने वाले आठ जिलों मेरठ, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर और शामली के साथ ताज नगरी आगरा में इस मानक के ईंधन की बिक्री शुरू हो गई। एक अक्तूबर, 2019 से एनसीआर में पड़ने वाले हरियाणा के सातों जिलों फरीदाबाद, गुरूग्राम, महेंद्र नगर, रेवाड़ी, झज्जर, पलवल और मेवात में बीएस-6 ईंधन की आपूर्ति शुरू हो गई है।

वाहन पंजीकरण में भी बदलाव

उल्लेखनीय है कि सरकार एक अप्रैल, 2020 से पूरे देश में बीएस-6 ईंधन की बिक्री अनिवार्य बनाने के साथ ही वाहनों के पंजीकरण में भी बदलाव करने जा रही है। अगले साल एक अप्रैल से देश में सिर्फ बीएस-6 मानक पर खरे उतरने वाले वाहन ही पंजीकृत होंगे। मतलब इससे कम मानक के वाहनों का पंजीकरण 31 मार्च, 2020 से पहले ही कराना होगा।