दिल्ली / टीवी पर क्राइम शो देखकर खौफनाक साजिश रची, बेटे की मां से शादी करने के लिए हत्या

Zoom News : Dec 25, 2020, 04:27 PM
दिल्ली पुलिस ने दस साल की मासूम के अपहरण और हत्या के मामले में एक सनसनीखेज खुलासा किया है। लोगों को यह जानकर आश्चर्य हुआ कि आरोपी ने उस मासूम को मार डाला क्योंकि उसे बच्चे की मां के करीब आना था। उससे दोस्ती करना चाहता था और उससे शादी करना चाहता था। हत्या के बाद आरोपी ने पहले बच्चे का शव तालाब में फेंक दिया। फिर उसे जलाने की असफल कोशिश की। उसके बाद बच्चे की लाश को पत्थरों के नीचे छिपा दिया गया और बाद में उसके कपड़े निकालकर उसे एक प्लास्टिक की थैली में भरकर फिर से तालाब में फेंक दिया। आरोपी ने टीवी पर एक क्राइम शो देखकर पूरी साजिश रची थी।

हत्या और अपहरण की यह भयानक घटना दिल्ली के संजय कॉलोनी (भाटी माइंस) की है। 28 नवंबर को, संजय कॉलोनी में रहने वाली एक महिला ने मैदान गढ़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई कि उसका 10 वर्षीय बेटा शाम 4 बजे से लापता था। वह कुछ सामान लेने के लिए एक जनरल स्टोर गया लेकिन घर नहीं लौटा। इसके बाद, उसे घर के आसपास और फिर रिश्तेदारों के साथ भी खोजा गया। लेकिन बच्चे का कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया और मामले की जांच शुरू कर दी।

शुरुआती जांच में पता चला है कि बच्चे के माता-पिता कुछ साल पहले अलग हो गए थे। बच्चे के लिए माता-पिता के बीच एक मामला भी चल रहा है। बच्चे की कस्टडी मां के पास है। लेकिन कई बार पिता बच्चे को अपने साथ अपने घर ले जाते थे। इसके बाद पुलिस ने आसपास के सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस ने बच्चे के पिता के आंदोलन की जांच की, लेकिन इस घटना के आसपास कोई भी हलचल नहीं मिली और न ही कोई सीसीटीवी फुटेज।

मामले की जांच चल ही रही थी कि 24 दिसंबर को पुलिस ने जंगल के एक तालाब से बेहद सड़ी गली हालत में एक बच्चे का शव बरामद किया। उस बच्चे की पहचान करने के बाद, पुलिस को पता चला कि यह वही बच्चा था जो 28 नवंबर से लापता था। इसके बाद, पुलिस ने अपनी जांच की दिशा बदल दी। इसलिए पुलिस को बिट्टू नाम के व्यक्ति के बारे में जानकारी मिली। बिट्टू बच्चे की मां का बचपन का दोस्त था और वह उससे शादी भी करना चाहता था।

लेकिन परिवार के सदस्यों ने रिश्ते को मंजूरी नहीं दी। इसलिए महिला की शादी कहीं और कर दी गई। लेकिन 2 साल पहले, जब महिला अपने पति से अलग हो गई और अपने मायके में रहने के लिए आई, तो बिट्टू ने एक बार फिर उससे दोस्ती करना शुरू कर दिया। इस दौरान उसने बच्चे से दोस्ती भी की। वह अक्सर उसे अपने साथ बाजार ले जाता था। कभी आइसक्रीम खिलाते, कभी घुमाते।

पुलिस को बिट्टू पर शक हो गया। इस कारण उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। लेकिन बिट्टू ने इस मामले में हाथ होने से इनकार किया। लेकिन जब पुलिस ने सख्ती की और 28 नवंबर को घटना स्थल पर अपनी उपस्थिति दिखाई, तो बिट्टू ने अपना अपराध कबूल कर लिया। उसने पुलिस को जो अपहरण और हत्या की कहानी सुनाई, उसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया।

पुलिस के अनुसार, बिट्टू ने कुछ समय पहले महिला से शादी का प्रस्ताव रखा था। लेकिन महिला ने उसे साफ मना कर दिया। इसके बाद बिट्टू को लगने लगा कि महिला का बच्चा उसकी राह का रोड़ा है। वह उसे किसी भी तरह से अपने रास्ते से हटाने की साजिश रचने लगा। फिर उसने टीवी पर एक क्राइम शो देखा और फिर उसने अपहरण और हत्या की साजिश रची।

घटना के दिन, बिट्टू ने 28 नवंबर को शाम 4 बजे देखा कि बच्चा शिवम अकेले दुकान की तरफ जा रहा था। उसने शिवम को अपने साथ आने को कहा और कहा कि चलो कुछ खा लेते हैं। वह पहले उसे पास के बस अड्डे पर ले गया और फिर फतेहपुर बेरी पहुंचा। वहां से ग्रामीण सेवा के दौरान वह उसे जंगल गढ़ी की ओर जंगल में ले गया और कहा कि वह उसके लिए नए कपड़े खरीदेगा। फिर उसे पैदल जंगल की ओर ले गया।

मौका देखकर उसने शिवम की गला दबाकर हत्या कर दी और अपनी लाश को मिट्टी से भरे तालाब में छिपाकर सीधे महिला के पास भाग गया। फिर बच्चे की मां के साथ मिलकर, उसने बच्चे को खोजने के लिए एक नाटक करना शुरू कर दिया।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी बिट्टू अगले दिन फिर से उस जगह पहुंचा, जहां उसने शिवम की हत्या की थी। उसने देखा कि शिवम की लाश दूर से तालाब में देखी गई थी। इसलिए उसने लाश को बाहर निकाला। फिर इसे पत्थरों के नीचे छिपा दिया। वह एक पेट्रोल पंप पर गया और वहां से 50 रुपए का पेट्रोल खरीदा। फिर वह तालाब में वापस चला गया और वहाँ उसने शिवम की लाश को जलाने की कोशिश की।

लेकिन गीले कपड़े और कम पेट्रोल की वजह से वह लाश को जला नहीं सका। परेशान होकर, उसने शिवम की लाश को पत्थरों के नीचे छिपा दिया और घर वापस आ गया। वह अगले दिन फिर मौके पर पहुंचा। उसने बिट्टू की लाश के सारे कपड़े उतार दिए। फिर लाश को प्लास्टिक की थैलियों में भरकर फिर से तालाब में फेंक दिया। पुलिस ने लाश को उसी तलाबा से बरामद किया और अब मामले का खुलासा किया।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER