फ्लैशबैक 2019 / आइए जानते है राजनीति से लेकर खेल तक साल 2019 में देशवासियों के लिए क्या कुछ रहा खास

Dainik Bhaskar : Dec 31, 2019, 11:07 AM
नई दिल्ली. साल 2019 में देशवासियों को राजनीति से लेकर खेल, अर्थ से लेकर तकनीक तक के क्षेत्रों में हंसने-मुस्कुराने के अवसर मिले। वहीं, कुछ पल आंख नम करने वाले भी रहे। फिर बात राजनीति के मजबूत नेताओं के देहांत की हो या चांद पर चंद्रयान-2 की हार्ड लैंडिंग के बाद इसरो प्रमुख के.सिवन के भावुक हो जाने की हो।

16 जनवरी 2019: चुनाव परिणाम के बाद अलग हुईं सपा-बसपा।

बसपा प्रमुख मायावती को जन्मदिन की बधाई देने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पहुंचे। लोकसभा चुनाव से पहले दोनों पार्टियां साथ आईं मगर परिणाम के बाद यह गठबंधन टूट गया।

30 जनवरी 2019: कैंसर पीड़ित मनोहर पर्रिकर ने बजट पेश किया।

गोवा के तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर अग्नाशय कैंसर से जूझ रहे थे। गंभीर रूप से बीमार होने के बाद भी वे विधानसभा में बजट पेश करने पहुंचे। 17 मार्च 2019 को पर्रिकर का निधन हो गया।

8 मई 2019: प्रियंका गांधी ने शीला दीक्षित के लिए रोड शो किया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार और तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के समर्थन में रोड शो किया था। हालांकि, वह भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी से हार गईं। 20 जुलाई 2019 को शीला दीक्षित का निधन हुआ।

18 मई 2019: चुनाव प्रचार के बाद केदारनाथ में ध्यान मुद्रा में प्रधानमंत्री मोदी।

लोकसभा चुनाव में प्रचार के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ पहुंचे थे। वहां उन्होंने गुफा में ध्यान लगाया। 

23 मई 2019: लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को बहुमत मिला।

लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को दूसरी बार बहुमत मिला। भाजपा मुख्यालय में मोदी ने कहा- सबको साथ लेकर चलूंगा। बदनीयत से काम नहीं करूंगा।

23 जुलाई 2019: बागी विधायकों के रवैये से निराश पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी।

कर्नाटक विधानसभा में पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी बहुमत साबित नहीं कर पाए। इसके बाद उनकी सरकार गिर गई। सरकार के पक्ष में 99 जबकि विरोध में 105 वोट पड़े। येदियुरप्पा ने सरकार बनाने का दावा पेश किया। आखिरकार वे पुनः मुख्यमंत्री बने। 

4 अगस्त 2019: कश्मीर पर एकजुट दिखे राजनीतिक पार्टियों के नेता।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने से पहले राज्य के हालात पर चर्चा के लिए जुटे राजनीतिक पार्टियों के नेतागण। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के घर पहुंचीं पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती।

7 सितंबर 2019: निराश इसरो प्रमुख के. सिवन को मोदी ने गले लगाया।

चंद्रयान-2 चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने में असफल रहा। इससे इसरो प्रमुख के.सिवन भावुक हो गए। प्रधानमंत्री मोदी ने गले लगाकर उन्हें हिम्मत दी।

17 सितंबर: 69वें जन्मदिन पर प्रधानमंत्री मोदी ने तितलियां उड़ाईं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 69वें जन्मदिन के मौके पर गुजरात में सरदार सरोवर के किनारे तितली पार्क में तितलियां उड़ाईं।

9 अक्टूबर 2019: दशहरे पर राजनाथ सिंह ने राफेल की पूजा की।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस में राफेल की पूजा की। पहिए के नीचे नींबू-मिर्ची को रखा गया। सोशल मीडिया पर कुछ ने इसे ट्रोल किया तो कुछ ने इसका समर्थन किया।

11 अक्टूबर 2019: महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अनौपचारिक मुलाकात की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ मामल्लपुरम (महाबलीपुरम) में यूनेस्को हेरिटेज साइट के स्मारकों पर अनौपचारिक मुलाकात की। भारत-चीन के बीच पुराना जुड़ाव रहा।

19 अक्टूबर 2019: गांधी जयंती के 150 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री निवास पर जुटीं फिल्मी हस्तियां।

2 अक्‍टूबर 2019 को महात्‍मा गांधी की जयंती के 150 वर्ष पूरे हुई। इस मौके पर प्रधानमंत्री आवास पर फिल्मी हस्तियां जुटीं। मोदी ने कहा था-गांधी के आदर्शों को लोकप्रिय बनाने में कई महान लोग काम कर रहे।

18 नवंबर 2019: राज्यसभा के 250वें सत्र में मार्शल्स की वर्दी बदली।

राज्यसभा में सदस्यों की मदद के लिए तैनात मार्शल्स की वर्दी बदली गई। कुछ पूर्व सैन्य अधिकारियों-राजनेताओं ने इसकी आलोचना की। बाद में पुरानी वर्दी को ही फिर से नियमित कर दिया गया।

28 नवंबर 2019: जनता दरबार में नतमस्तक मुख्यमंत्रीव ठाकरे। उद्धव ठाकरे।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिवाजी पार्क में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वह ठाकरे परिवार से पहले मुख्यमंत्री बने। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। उन्होंने नतमस्तक होकर जनता का अभिवादन किया।

11 दिसंबर 2019: नागरिकता संशोधन कानून पर देशभर में विरोध हुआ।

असम के गुवाहाटी में नागरिकता संशोधन कानून पर प्रदर्शनकारी और पुलिस आमने-सामने हुए। इसे लेकर देशभर में विरोध जारी है। यह कानून गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने की बात कहता है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER