मुंबई / जनता सबसे बड़ा भगवान है पर किसी को लगता है अपुन ही भगवान है: संजय राउत

Live Hindustan : Nov 18, 2019, 11:00 AM

महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ गठबंधन सरकार की कोशिशों के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार सोमवार शाम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। माना जा रहा है कि इस मुलाकात के बाद महाराष्ट्र में सरकार बनाने की तस्वीर साफ हो सकती है। वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने बीजेपी पर निशाना साधते हैं कि दिल्ली में बड़े-बड़े बादशाह आए और चलेगा लेकिन लोकतंत्र कायम है। जनता सबसे बड़ा भगवान है। अपने को भगवान समझने की कोशिश किसी को नहीं करनी चाहिए। कभी-कभी किसी को लगता है अपुन ही भगवान है पर कोई होता नहीं है।

शिवसेना नेता ने कहा कि आज जो स्थिति महाराष्ट्र की है या पैदा करने की कोशिश की गई है। मुझे लगता है ये अपने आप के एक अहम अहंकार की बात है। जो बात शिवसेना के बारे में तय हुई है तो आप पीछे हटते हो और अपने आप को भगवान समझते हो तो ये ठीक नहीं रहेगा।

उन्होंने कहा कि एनडीए के फाउंडर सदस्यों में से हम एक हैं। एनडीए बनाने वाले पांच नेता थे अटल जी, अडवाणी जी, जॉर्ज फर्नांडिस जी, प्रकाश सिंह बादल और बाला साहेब ठाकरे जी। हमने एनडीए को बनाया है। हमने बार-बार एनडीए को मजबूत करने की कोशिश की है। एक समय आ गया था जब इसमें दो-तीन लोग ही बचे थे तो हमने एनडीए बचाकर रखा। कितने मोड आए लेकिन हमने एनडीए को छोड़ा नहीं। आज उन्हें लगता है कि हम भगवान है और हम सबकुछ कर सकते हैं। और शिवसेना को एनडीए से बाहर निकालने की बात करते हो तो मैं कहूंगा कि आप भगवान नहीं हो। 

संजय राउत ने कहा कि चिराग पासवान और रामविलास पासवान के साथ हम काम कर चुके है। बात महाराष्ट्र से निकलकर दिल्ली तक आ गई है और यहां प्रदूषण बहुत ज्यादा है। वो राजनीतिक प्रदूषण कैसे दूर करेंगे। राजनीति में शब्द का और वचन का महत्व होता है लेकिन आज हमें बाहर निकालने की बात कर रहे हैं। एनडीए किसी की प्रॉपर्टी नहीं है। एक पार्टी जो हमेशा आपके साथ रही उसे आपने निकाल दिया। शिवसेना को कोई चिट्ठी नहीं भेजी आपको निकालने जा रहे हैं और ना प्रकाश सिंह बादल और ना नीतीश कुमार से पूछा कि शिवसेना को एनडीए से निकाला जा रहा है।