Shraddha Murder Case / हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, आफताब ने कत्ल के बाद किया था..

Zoom News : Dec 06, 2022, 05:38 PM
Shraddha Walker Case Toxic Relationship: श्रद्धा हत्याकांड में पुलिस ने चौंका देने वाला खुलासा किया है. श्रद्धा की लाश के टुकड़े करने के बाद आफताब ने दुनिया के सबसे महंगे मुकदमें को LIVE देखकर महीनों दिल्ली और मुंबई पुलिस को चकमा दिया. हॉलीवुड सुपर स्टार जॉनी डेप और उनकी पत्नी एम्बर हर्ड के केस को आफताब न सिर्फ कई बार पढ़ा बल्कि अदालत की सुनवाई को इंटरनेट पर लाइव देखता था.

आफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री ने किया दंग

आफताब के इंटरनेट सर्च हिस्ट्री को खंगालने पर पता चला है कि श्रद्धा की हत्या के कुछ दिनों बाद जून महीने में लड़े गए दुनिया के सबसे महंगे मुकदमें को आफताब ने कई बार देखा और पढ़ा था. आरोपी ने इसी केस से कानून के तमाम दांव पेंच के बारे में अपनी समझ को बढ़ाया था. श्रद्धा की हत्या के बाद जब मुंबई पुलिस श्रद्धा की मिसिंग केस की तफ्तीश कर रही थी और आफताब से कई राउंड की पूछताछ की तो वो मुंबई पुलिस को गुमराह करने में कामयाब रहा था. मुंबई पुलिस के सामने उसने दावा किया था कि श्रद्धा उसे छोड़कर चली गई है. जिस पर मुंबई पुलिस ने भरोसा किया और आफताब को छोड़ दिया था.

आफताब से पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे

दिल्ली पुलिस ने भी आफताब से श्रद्धा को लेकर कई राउंड की पूछताछ की थी जिसमें वो लगातार दिल्ली पुलिस को गुमराह करता रहा था. अब अफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री से इस बात का खुलासा हुआ कि आखिर कैसे उसने कानूनी दांव पेंच के हर हथकंडे को पहले से जानने और समझने की कोशिश की थी. जिसका इस्तेमाल उसने दिल्ली-मुंबई पुलिस को जांच के दौरान उलझाने में किया.

क्या था जॉनी डेप-एम्बर हर्ड केस?

हॉलीवुड सुपर स्टार जॉनी डेप की पूर्व पत्नी ने साल 2018 में एक अखबार को इंटरव्यू देकर ये दावा किया था कि वो डोमेस्टिक वॉयलेंस का शिकार हुई थीं. जॉनी ने उनका शारीरिक और मानसिक शोषण किया था. जिसके बाद जॉनी ने अपनी पूर्व पत्नी पर मानहानि का केस किया था. ये केस पूरी दुनिया में चर्चा में रहा था. केस में 100 घंटे की गवाही हुई थी और जॉनी की तरफ से अदालत में मजबूत दलीलें दी गईं थीं. इस केस को दुनिया भर में लाइव देखा गया था. जिसे दिल्ली के उसी खूनी फ्लैट में बैठकर श्रद्धा की हत्या करने के बाद आफताब भी देख रहा था. जॉनी डेप ने मानहानि के केस को जीत लिया था और हर्जाने के तौर पर उन्हें 15 मिलियन डॉलर मिले थे.

आफताब को ऐसे आया जंगल का आइडिया

आफताब ने अपने दोस्त बद्री की छत से जंगल देखा था. तभी उसके दिमाग में आया था कि श्रद्धा की लाश को जंगल में ठिकाने लगाना है. श्रद्धा-अफताब को हिमाचल से दिल्ली लाने वाले बद्री के छतरपुर के फ्लैट पर आफताब, श्रद्धा की हत्या के बाद घूमने के लिए गया था. दरअसल बद्री के फ्लैट से जंगल बेहद करीब है. उसी जंगल को देखकर अफताब ने मन बनाया था कि श्रद्धा की बॉडी के टुकड़ों को वो जंगल में ही ठिकाने लगाएगा. अफताब ने पूछताछ में खुलासा किया की हत्या करने के बाद उसने कुछ देर आराम किया था. उसके बाद उसी रात श्रद्धा की बॉडी के कुछ हिस्सों के टुकड़े किए थे और बाकी हिस्सा उसने छोड़ दिया था. उसके बाद अगली सुबह बॉडी के बचे हिस्सों के टुकड़े किए थे.

5 सितारा होटल में शेफ की नौकरी कर चुका था आफताब

अफताब मुंबई के 5 सितारा होटल में शेफ की नौकरी कर चुका था. शेफ की ट्रेनिंग लेने की वजह से उसे मालूम था की किसी भी बॉडी को कैसे और किस तरह से आसानी से काटा जा सकता है. वो अलग बात है कि इस बार वो किसी जानवर का नहीं बल्कि अपनी खुद की गर्ल फ्रेंड की लाश के टुकड़े कर रहा था. बॉडी के टुकड़े करने के लिए उसने आरी समेत कई धारदार हथियारों का इस्तेमाल किया था.

डेड बॉडी के टुकड़ों को 4 माह तक फ्रिज में रखा

आफताब ने आरी को गुरुग्राम में अपने दफ्तर के पास फेंक दिया था. उस आरी को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस ने उस इलाके में काफी सर्च अभियान चलाया लेकिन आरी अब तक बरामद नहीं हुई. पूछताछ में आफताब ने बताया कि उसने श्रद्धा की बॉडी के टुकड़ों को तकरीबन 4 महीनों तक फ्रिज में रखा था. श्रद्धा की हत्या करने के बाद वो बेहद ठंडे दिमाग से हर काम कर रहा था. हर सबूत मिटा रहा था, श्रद्धा की बॉडी को कहां और कैसे ठिकाने लगाना है वो हर वक्त इसके बारे में सोचता रहता था.

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER