NDA vs INDIA / बयान उदयनिधि का पर निशाने पर सोनिया-राहुल- PM की पाठशाला के बाद मंत्री-MP का कहर

Zoom News : Sep 07, 2023, 05:55 PM
NDA vs INDIA: तमिलनाडु के मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म पर विवादित बयान देकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को आक्रामक होने का एक ऐसा मौका दे दिया जिसकी वो तलाश कर रही थी. उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म की तुलना कोरोना वायरस संक्रमण, डेंगू और मलेरिया से करते हुए इसे खत्म किए जाने की वकालत की. उन्होंने कहा था कि सनातन धर्म लोगों को धर्म और जाति के आधार पर विभाजित करता है. सनातन धर्म का समूल नाश दरअसल मानवता और समानता को बनाए रखने के हित में होगा. उनके इस बयान को बीजेपी ने दोनों हाथों से लपक लिया और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे को निशाने पर लेने में जरा भी देरी नहीं की. उदयनिधि का बयान बहस का मुद्दा बन गया और इसकी गूंज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक में भी सुनाई दी.

पीएम मोदी ने बुधवार को मंत्रिपरिषद की बैठक की, जिसमें उन्होंने पाठशाला लगाई. प्रधानमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि उदयनिधि के बयान का सही से जवाब देना चाहिए. उन्होंने मंत्रियों को सनातन धर्म विवाद पर शर्तों के साथ बोलने की छूट दी. प्रधानमंत्री की नसीहत के बाद गुरुवार को बीजेपी के नेता और मंत्री सनातन धर्म पर बयान देते नजर आए. उनके निशाने पर कांग्रेस रही. उदयनिधि के बहाने सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी बीजेपी के निशाने पर रहे. बता दें कि उदयनिधि स्टालिन DMK के नेता हैं और ये विपक्षी गठबंधन इंडिया का हिस्सा है.

किस नेता ने क्या बयान दिया?

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, हमारी आवाज उन लोगों तक पहुंचनी चाहिए जिन्होंने सनातन धर्म को चुनौती दी. जब तक भक्त जीवित हैं, हमारे धर्म और आस्था को कोई चुनौती नहीं दे सकता. पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने भी सनातन धर्म विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने इस पूरे विवाद में कांग्रेस पर निशाना साधा. रविशंकर प्रसाद ने कहा, कांग्रेस बार-बार सनातन धर्म का अपमान करती है. सनातन का अपमान आखिर क्यों. कांग्रेस नेता हिंदू का अपमान कर रहे हैं. विपक्ष के नेता आखिर क्यों बार-बार सनातन का अपमान करते हैं.

उन्होंने कहा, मेरा पहला सवाल सोनिया गांधी, राहुल गांधी से है. बार-बार हिंदू आस्था और सनातन को क्यों चोट की जा रहे. जवाब दें. पहले स्टालिन ने सनातन पर विवादित बयान दिया और अब ए राजा कह रहे कि सनातन एचआईवी और कुष्ठ रोग जैसा है. सोनिया गांधी आप चुप हैं.

रविशंकर आगे कहते हैं कि आपके पुत्र हिंदू धर्म और सनातन को कितना समझते हैं, ये हम जानते हैं. सोनिया गांधी आप संविधान भूल चुकी हैं और राहुल गांधी पढ़ते लिखते नहीं हैं. कांग्रेस पार्टी संविधान में दिए गए हिंदू आस्था पर गलत टिपण्णी कर रही है. मुगलों से लेकर ब्रिटिश शासन में हिंदू आस्था को चोट पहुंचाने की कोशिश असफल रही है.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि उदयनिधि स्टालिन के बयान को पांच दिन हो गए. राहुल गांधी, नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव चुप हैं…कब बोलेंगे? उदयनिधि के बयान पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का कहना है कि सनातन धर्म को लेकर भारत गठबंधन जो बयान दे रहा है, वह निंदनीय है. वे कहते हैं कि सनातन धर्म को खत्म कर देना चाहिए, ये उनका असली चेहरा है… ये 28 लोगों का गठबंधन देश बांटना चाहता है और यह उनका असली चेहरा है.

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, राहुल गांधी जवाव दें कि क्या घमंडिया गठबंधन के नेताओं के सनातन धर्म की ऐसी तुलना से वो सहमत हैं. नफरतवादी नहीं प्रेमवादी हैं हम, गर्व से कहते हैं कि हिंदूवादी हैं हम.

बीजेपी के जो ये नेता पीएम मोदी की पाठशाला के बाद मैदान में उतरे हैं ये सभी पार्टी के फायरब्रांड नेता हैं. ये सभी ज्यादातर मुद्दों पर सोशल मीडिया और टीवी मीडिया पर पार्टी का पक्ष रखते नजर आए हैं. इन बयानों के बाद साफ है कि बीजेपी इस मुद्दे पर अटैकिंग बैटिंग करेगी और चुनावी समर में इसे मुद्दा बनाएगी. प्रधानमंत्री मोदी जब अपनी बैठक में उदयनिधि के बयान को उठा रहे हैं तो आप समझ सकते हैं कि बीजेपी इसे कितनी गंभीरता से ले रही है.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER