स्पोर्ट्स / विराट कोहली ने अरुण जेटली को किया याद, इस ट्वीट के जरिए दी श्रद्धांजलि

News18 : Aug 24, 2019, 06:25 PM
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli)ने पूर्व वित्‍त मंत्री और बीजेपी के बड़े नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) के निधन पर शोक जताया है. जेटली का शनिवार को एम्स में निधन हो गया. वह 66 वर्ष के थे. क्रिकेट जगत के कई लोगों ने उनके निधन पर शोक जताया. इनमें टीम इंडिया के कप्‍तान कोहली के अलावा, पूर्व क्रिकेटर व बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir), आकाश चोपड़ा (Akash Chopra), वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) शामिल रहे. बता दें कि जब जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे, तब दिल्ली और आसपास के क्षेत्र से कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमके. गंभीर के अलावा वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली, शिखर धवन और इशांत शर्मा ऐसे कुछ खिलाड़ी हैं जिन्होंने उनके कार्यकाल के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन किया.

मोदी सरकार में संभाले अहम मंत्रालय

पेशे से वकील जेटली की भाजपा सरकार के पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में उनकी अहम भूमिका रही. उन्होंने वित्त और रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाला और कई बार सरकार के लिए संकट मोचक भी साबित हुए. बीमारी के कारण जेटली ने 2019 लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था. इस साल मई में भी उन्हें इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था. पिछले साल 14 मई को उनके गुर्दे का प्रतिरोपण हुआ था.

पिता के निधन पर वे घर आए थे: कोहली

कोहली ने अपने पिता के निधन के वक्‍त जेटली के उनके घर आने के वाकये का जिक्र करते हुए उन्‍हें श्रद्धांजलि दी. उन्‍होंने टि्वटर पर लिखा, 'अरुण जेटली जी के निधन के बारे में सुनकर हैरान और दुखी हूं. वह एक अच्‍छे इंसान थे और हमेशा दूसरों की मदद करते थे. 2006 में जब मेरे पिता गुजर गए थे तब वे अपने अनमोल समय में कुछ वक्‍त निकालकर मेरे घर श्रद्धांजलि देने आए थे. भगवान उनकी आत्‍मा को शांति प्रदान करें.'

गंभीर ने बताया पिता समान

गंभीर ने ट्वीट किया, ‘पिता आपको बोलना सिखाते हैं लेकिन पिता तुल्य व्यक्ति आपको बातचीत करना सिखाता है. पिता आपको बोलना सिखाता है लेकिन पिता तुल्य व्यक्ति आपको आगे बढ़ना सिखाता है. पिता आपको नाम देता है लेकिन पिता तुल्य व्यक्ति आपको पहचान देता है. मेरे पिता तुल्य अरूण जेटली जी के निधन से मेरा एक हिस्सा उनके साथ चला गया.’

'खिलाड़ियों को समझते थे जेटली'

सहवाग ने कहा, ‘अरुण जेटली जीत के निधन से काफी दुखी हूं. सार्वजनिक जीवन में काफी सेवा करने के अलावा उन्होंने दिल्ली के कई खिलाड़ियों के जीवन में बड़ी भूमिका निभायी और उन्हें भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका प्रदान कराया. ऐसा भी समय था जब दिल्ली के इतने खिलाड़ियों को उच्च स्तर पर खेलने का मौका नहीं मिलता था. डीडीसीए में उनके नेतृत्व में मेरे अलावा कई खिलाड़ियों को भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला. वह खिलाड़ियों की जरूरतों को समझते थे और उनकी समस्याओं का निदान करते थे. मेरे व्यक्तिगत रूप से उनके साथ काफी अच्छा रिश्ता था. मेरी संवेदनायें और प्रार्थना उनके परिवार और प्रियजनों के साथ. ओम शांति.’

चोपड़ा ने कहा, ‘अरुण जेटली के निधन की खबर सुनकर काफी दुख हुआ. एक विद्वान..क्रिकेट प्रेमी. हमेशा मदद के लिये तैयार. वह अंडर-19 में अच्छा कर रहे खिलाड़ियों का नाम भी याद रखते थे. सर, आपकी काफी कमी खलेगी. भगवान आपकी आत्मा को शांति दे.’

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER