देश / कमलनाथ द्वारा इमरती देवी को 'आइटम' कहने पर बीजेपी हुई हमलावर, मौन धरने पर बैठे सिंधिया

Zoom News : Oct 19, 2020, 11:51 AM
इंदौर। शिवराज कैबिनेट में मंत्री इमरती देवी (Imrati Devi) पर मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता कमलनाथ (Kamal Nath) के बयान को लेकर सियासत गरमाती जा रही है। अब कांग्रेस को छोड़कर BJP में शामिल हुए दिग्‍गज नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) कमलनाथ के बयान के खिलाफ इंदौर में मौन धरने पर बैठ गए हैं। बता दें कि कमलनाथ ने इमरती देवी को 'आइटम' कह दिया था। इसके बाद से ही चुनावी समय में बीजेपी कमलनाथ और कांग्रेस पार्टी पर हमलावर हो गई है।

जानकारी के मुताबिक, कमलनाथ द्वारा भाजपा प्रत्‍याशी इमरती देवी (Imarti Devi) को 'आइटम' कहने पर बीजेपी पूरी ताकत के साथ हमलावर हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर तमाम बड़े नेताओं ने कमलनाथ के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। वहीं, इस बयान को लेकर बीजेपी प्रदेश भर में मौन व्रत पर है। भोपाल में सीएम शिवराज और ग्वालियर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा मौन व्रत पर हैं। दूसरी तरफ, प्रदेश भर में बीजेपी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौन व्रत पर चले गए हैं। यह मौन व्रत 2 घंटे के लिए रखा गया है।

कमलनाथ की टिप्पणी को लेकर बीजेपी चुनाव आयोग में शिकायत भी कर चुकी है। बीजेपी चुनाव आयोग से मांग कर रही है कि इस टिप्पणी के बाद कमलनाथ के प्रचार कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगाया जाए। कांग्रेस नेताओं की तरफ से भी अब कमलनाथ के इस बयान को लेकर प्रतिक्रिया आ रही है। कांग्रेस का कहना है कि कमलनाथ ने इमरती देवी का नाम नहीं लिया है। भाजपा उपचुनाव में घटिया राजनीति कर रही है। वहीं, इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'कमलनाथ जी! इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है, जिसने गांव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। कांग्रेस ने मुझे ‘भूखा-नंगा’ कहा और एक महिला के लिए आपने ‘आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी।'

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER