IPL 2024 / हार्दिक पांड्या को डीविलियर्स ने बताया घमंडी, कहा - खुद को धोनी दिखाने की कर रहे कोशिश

Vikrant Shekhawat : May 11, 2024, 06:00 AM
IPL 2024: आईपीएल के 17वें सीजन में किसी एक कप्तान को अब तक टीम और खुद के प्रदर्शन की वजह से सबसे ज्यादा आलोचना का सामना करना पड़ा है तो वह कोई और नहीं बल्कि ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या हैं। आईपीएल के इस सीजन के लिए जब हार्दिक को मुंबई इंडियंस ने रोहित शर्मा की जगह पर कप्तान बनाने का फैसला किया था उसके बाद से ही फ्रेंचाइजी को जहां फैंस की लगातार आलोचना का सामना करना पड़ा तो वहीं टीम का प्रदर्शन भी निराशाजनक ही रहा है। अब साउथ अफ्रीकी दिग्गज खिलाड़ी एबी डी विलियर्स ने हार्दिक पांड्या की कप्तानी करने के तरीके पर सवाल बड़ा सवाल उठाया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि पांड्या की कप्तानी करने के तरीके में एक अहंकार दिखता है।

धोनी की तरह खुद को हार्दिक समझते कूल

एबी डी विलियर्स ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए हार्दिक पांड्या की आलोचना करने के साथ कहा कि उनकी कप्तानी करने का तरीका काफी बहादुरी भरा दिखता है। इसमें एक तरह से अहंकार की झलक दिखाई देती है। मुझे नहीं लगता कि वह मैदान पर जिस तरह से खुद को दिखाने की कोशिश करता है असल में वह वैसा ही है। हालांकि उसने ये फैसला कर लिया है कि उसका कप्तानी करने का यही तरीका है। वह धोनी की तरह खुद को शांत और कंपोज दिखाने की कोशिश करते हैं मगर ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। वास्तविकता में ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। जब आप गुजरात टाइटंस टीम के कप्तान थे तो वहां पर काफी सारे युवा खिलाड़ी मौजूद थे और ऐसे में जिन खिलाड़ियों को अनुभव हासिल नहीं है वह इस तरह के नेतृत्व का पालन कर सकते हैं, लेकिन मुंबई इंडियंस में कई ऐसे प्लेयर्स हैं जो आपके साथ पहले भी खेले हैं और ऐसे में उनके साथ इस तरह की कप्तानी करने का तरीका बिल्कुल भी सही नहीं है।

हमें शेखी बघारने की जरूरत नहीं

हार्दिक पांड्या की आलोचना करने साथ एबी डी विलियर्स ने आगे कहा कि मैं हार्दिक को कप्तान के रूप में पसंद नहीं कर रहा हूं मुझे उसे खेलते हुए देखना अच्छा लगता है। टीम में रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह जैसे अनुभवी खिलाड़ी मौजूद हैं ऐसे में आपको सिर्फ शांत रहने की जरूरत है ना कि वहां पर उन सभी के सामने खुद को बड़ा दिखाएं। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि हार्दिक को उनकी कप्तानी करने के तरीके की वजह से आलोचना का समना करना पड़ा है, इससे पहले भी कुछ पूर्व दिग्गजों ने उनके नेतृत्व के तरीके पर सवाल उठाए हैं।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER