इंडिया / गांधी जयंती 2019: रघुपति राघव राजा राम की धुन पर निकालेगी पदयात्रा, राहुल गांधी करेंगे नेतृत्‍व

News18 : Oct 02, 2019, 07:49 AM

नई दिल्‍ली | महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती के मौके पर कांग्रेस (Congress) बुधवार को पूरे देश में 'रघुपति राघव राजा राम' की धुन पर पदयात्रा निकालेगी. दिल्ली में निकलने वाली इस यात्रा में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) शामिल होंगे. इस दौरान राहुल गांधी पदयात्रा का नेतृत्‍व भी करेंगे.

पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय से राजघाट तक यात्रा निकाली जाएगी, जिसमें राहुल गांधी शामिल होंगे. इस यात्रा के समापन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गांधीवाद और गांधी के विचारों वाले भारत के लिए काम करने की शपथ दिलाएंगी.

राजघाट पर बापू को देंगे श्रद्धांजलि

इस यात्रा के पूरा होने के बाद कांग्रेस के नेता राजघाट पर बापू को श्रद्धांजलि देंगे. देश के दूसरे हिस्सों में भी कांग्रेस पदयात्राएं निकालेगी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की पदयात्रा में शामिल होंगी.

राजनीतिक दलों को गांधी के दर्शन और शिक्षा का एहसास होना लगा

वेणुगोपाल ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि 50 वर्षों से भी ज्यादा समय बाद कुछ राजनीतिक दलों को गांधी के दर्शन और शिक्षा का अहसास हो रहा है, जो उनकी तरफ से एक स्वागत योग्य कदम है. लेकिन, सवाल यह है कि उनका यह रुख कितना वास्तविक है. वेणुगोपाल ने कहा कि सरकार पर चुनाव आयोग सहित सरकारी संस्थाओं को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस महात्मा गांधी की विचारधारा के साथ सरकार के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी.

गांधी जयंती समारोहों से कांग्रेस, वाम एक मंच पर आए

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती ने पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और वाममोर्चे को विपक्षियों के खिलाफ एक मंच पर ला दिया है. महात्मा गांधी की 150वी जयंती मनाने के लिए कांग्रेस ने 'बंगाल में बापू' नामक एक कला प्रदर्शनी का आयोजन किया है.

माकपा नीत वाम मोर्चे को भी कला प्रदर्शनी में आमंत्रित किया गया था और वाम मोर्चा के अध्यक्ष बिमान बोस, माकपा के राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्रा और फॉरवर्ड ब्लॉक के राज्य सचिव नरेन चटर्जी सहित कई वरिष्ठ वाम नेता इसमें मौजूद रहे.