हरियाणा / 2 साल बाद राम रहीम से मिली हनीप्रीत, सुनारिया जेल में 35 मिनट तक हुई मुलाकात

Dainik Bhaskar : Dec 09, 2019, 06:09 PM

रोहतक, साध्वी यौन शोषण और पत्रकार हत्याकांड में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से सोमवार को हनीप्रीत ने मुलाकात की। करीब 28 महीने बाद हनीप्रीत की राम रहीम से मुलाकात हुई। हनीप्रीत ने करीब 35 मिनट मुलाकात की। वे दोपहर 2.40 बजे सुनारिया जेल पहुंची थी और 3.15 वहां से गईं। इस दौरान उनके साथ डेरे के वकील व चेयरपर्सन शोभा इंसा साथ में थी। इससे पहले दोनों 25 अगस्त 2017 को मिले थे, जब साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया गया था। 

हनीप्रीत और राम रहीम की मुलाकात को लेकर प्रशासन की काफी अड़चने आड़े आ रही थी। लेकिन अनिल विज के गृह मंत्री बनते ही उन्होंने इस मुलाकात को लेकर सॉफ्ट कॉर्नर अपना रखा था। कयास लगाए जा रहे हैं कि इसके बाद ही पुलिस ने गुपचुप तरीके से मुलाकात को मंजूरी दी।  

इससे पहले हनीप्रीत और राम रहीम की मुलाकात को लेकर सिरसा पुलिस ने अपनी रिपोर्ट सुनारिया जेल सुपरिंटेंडेंट को भेजी थी। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में हनीप्रीत को राम रहीम की सबसे बड़ी राजदार माना है। ऐसे में दोनों के बीच मुलाकात होने से सिरसा में कानून व्यवस्था बिगड़ने की आशंका जताई थी। इसके बाद मुलाकात का मामला खटाई में पड़ गया था। 

गृहमंत्री विज ने कहा था- पुलिस को दोबारा जांच का आदेश देंगे

हालांकि, हनीप्रीत और रामरहीम की मुलाकात को लेकर पिछले दिनों गृहमंत्री अनिल विज ने एक प्रेसवार्ता में कहा था कि हर कैदी को मुलाकात का हक है। वे पुलिस को आदेश देंगे कि दोबारा इसकी जांच करें। इसके बाद सोमवार को सीधे हनीप्रीत की सुनारिया जेल में मुलाकात की बात सामने आई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि पुलिस ने गुपचुप तरीके से हरी झंडी दी। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। 

जमानत मिलने के बाद सीधे डेरा सच्चा सौदा पहुंची थी हनी

हनीप्रीत को पंचकूला जिला अदालत से 7 नवंबर को जमानत मिली थी। इसके बाद हनीप्रीत अंबाला जेल से सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा पहुंची थी। हनीप्रीत फिलहाल डेरा सच्चा सौदा में ही रह रहीं हैं। 12 नवंबर को शाह मस्ताना के अवतार दिवस पर डेरा में आयोजित कार्यक्रम में हनीप्रीत दिखी थी। 

25 अगस्त 2017 को भड़की थी हिंसा

साध्वी यौन शोषण मामले में पंचकूला सीबीआई कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को फैसला सुनाना था। 17 अगस्त 2017 को डेरा मुखी की अगुवाई में डेरा प्रबंधन समिति की अहम पदाधिकारियों व करीबियों की बैठक हुई। 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने जैसे ही गुरमीत राम रहीम को साध्वी रेप केस में दोषी करार दिया तो सिरसा में हिंसा भड़क उठी और हजारों डेरा अनुयायियों ने आगजनी की थी। इसमें 40 से अधिक लोग मारे गए थे।