Saharanpur News / पकड़ा गया जैश का आतंकी, 15 अगस्त से पहले देश को दहलाने वाली रच रहा था साजिश!

Zoom News : Aug 12, 2022, 08:23 PM
Saharanpur News: यूपी एटीएस ने सहारनपुर से जैश-ए-मोहम्मद और पाकिस्तान के संगठन तहरीक-ए-तालिबान से जुड़े संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है. एटीएस ने सहारनपुर के गंगोह निवासी आतंकी मोहम्मद नदीम को गिरफ्तार किया है. एटीएस को मोहम्मद नदीम के पास से कई तरह की आईईडी और बम बनाने का फिदाई फोर्स का प्रशिक्षण साहित्य बरामद हुआ है. पुलिस ने दावा किया कि नदीम ने पूछताछ में बताया कि उसे जैश की ओर से नुपूर शर्मा की हत्या का टास्क दिया गया था.  

तहरीक-ए-तालिबान से भी है जुड़ा

यूपी एटीएस ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी मोहम्मद नदीम को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार, वह जैश के साथ आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान से भी जुड़ा हुआ था. मोहम्मद नदीम पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकियों से सीधे संपर्क में था.

आंतकी हमले की थी तैयारी

यूपी एटीएस ने यह सारी कवायद राज्य में किसी बड़े आतंकी हमले की तैयारी को लेकर की थी. यूपी एटीएस को सहयोगी एजेंसियों से सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है.

फोन से मिले अहम सुराग

गिरफ्तार मोहम्मद नदीम के फोन से पाकिस्तान और अफगानिस्तान के जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान के आतंकियों से हुए चैट और वाइस मैसेज भी मिले हैं. मिली जानकारी के अनुसार, 2019 मार्च में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर आया था.

पूछताछ में हुआ खुलासा

यह खुलासा सहारनपुर के देवबंद से गिरफ्तार जैश के संदिग्ध आतंकी शाहनवाज तेली और आकिब अहमद मलिक की गिरफ्तारी के बाद हुआ था. दोनों ने एटीएस को पूछताछ में बताया है कि टॉप कमांडर देवबंद में रुकने के अलावा यूपी के कुछ प्रमुख शहरों में भी गया और वहां कुछ लोगों से मुलाकात भी की थी. 

पुलिस ने किया ये बड़ा दावा

पुलिस ने दावा किया है कि नदीम जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकियों से सीधे संपर्क में था. वह जैश और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था. नदीम के मोबाइल से फिदायीन विस्फोट से जुड़ी पीडीएफ फाइल भी मिली है. उसके मोबाइल से जैश-ए-मोहम्मद और टीटीपी के आतंकियों से चैट, वॉइस मैसेज मिले हैं. 

फिदायीन हमले की थी तैयारी

पुलिस ने दावा किया है कि नदीम व्हाट्सएप, टेलीग्राम, आईएमओ, फेसबुक मैसेंजर, क्लब हाउस के जरिए जैश और टीटीपी के आतंकियों से जुड़ा हुआ था. उसने विदेशी आतंकियों को 30 से ज्यादा वर्चुअल नंबर, सोशल मीडिया आईडी बना कर दी थी. पुलिस ने कहा कि टीटीपी के पाकिस्तानी आतंकी ने नदीम को सोशल मीडिया के जरिए फिदायीन हमले की ट्रेनिंग दी थी. पुलिस के मुताबिक मोहम्मद नदीम ने पूछताछ में बताया कि उसे पाकिस्तान और अफगानिस्तान में सक्रिय JeM एवं TTP के आतंकवादी स्पेशल ट्रनिंग के लिए बुला रहे थे. जिस पर वो वीजा लेकर पाकिस्तान जाता और जैश ए मोहम्मद से ट्रेनिंग लेकर आता. 

नदीम ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान के आतंकी ने नुपूर शर्मा की हत्या करने का जिम्मा दिया था. भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपूर शर्मा हजरत पैगंबर पर कथित विवादित टिप्पणी के बाद सुर्खियों में आई थीं. नदीम ने अपने कुछ भारतीय संपर्को की भी जानकारी एटीएस को दी है. जिस पर आगे की जांच की जा रही है. 

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER