दुनिया / हर 33 सेकंड में एक व्यक्ति की मौत, इस देश के लिए 2020 रहा सबसे घातक

Zoom News : Dec 23, 2020, 04:46 PM
USA: साल 2020 अमेरिकी इतिहास में सबसे घातक साबित होने वाला है। सीडीसी के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल अमेरिका में कुल 32 लाख मौतें हो सकती हैं। अमेरिका में अब तक 29 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। यह वर्ष 2019 की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक घातक साबित हुआ है क्योंकि पिछले वर्ष 28 लाख लोगों की मृत्यु हुई थी।

इससे पहले, वर्ष 1918 अमेरिका के लिए बड़ी त्रासदी से भरा था। वर्ष 1918 में प्रथम विश्व युद्ध के कारण 1 लाख 16 हजार 516 अमेरिकी सैनिक मारे गए। इसके अलावा, स्पेनिश फ्लू से 6 लाख 75 हजार लोग मारे गए थे। 1917 की तुलना में उस वर्ष मरने वालों की संख्या में 46 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण अब तक अमेरिका में तीन लाख 19 हजार लोगों की मौत हो चुकी है और यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। इस कोरोना महामारी के अनुसार अमेरिका में पिछले सप्ताह सबसे खतरनाक सप्ताह साबित हुआ है और इस एक सप्ताह में हर 33 सेकंड में 18 हजार लोगों की मौत हुई है यानी एक मौत।

वर्ष 2020 का आखिरी महीना भी कोरोना वायरस के मामले में अमेरिका में सबसे घातक साबित होने वाला है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, 21 दिसंबर तक अमेरिका में इस वायरस से 50 हजार 996 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले अप्रैल के महीने में 52 हजार 200 लोगों की मौत हुई थी। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में अप्रैल का रिकॉर्ड टूट जाएगा।

कोरोना वायरस की दर अभी भी अमेरिका में नहीं रुक रही है। इस सोमवार को अमेरिका में 1 लाख 90 हजार 519 नए मामले सामने आए और वर्तमान में 1 लाख 15 हजार 351 कोरोना पॉजिटिव लोगों का अमेरिका के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। यही कारण है कि टीके को लेकर अमेरिकी प्रशासन गंभीरता दिखा रहा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन के अलावा, 79 वर्षीय डॉक्टर फोकी ने लाइव टीवी पर मोर्डेना वैक्सीन लिया था और उन्होंने वैक्सीन की बहुत प्रशंसा की हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अप्रैल से पहले सभी अमेरिकियों का टीकाकरण करना मुश्किल होगा। खबरों के मुताबिक, अमेरिका ने मॉडर्न से 200 मिलियन खुराक और फाइजर से 100 मिलियन खुराक लेने का फैसला किया है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER