विश्व / FATF से ब्लैकलिस्ट होने से घबराया पाकिस्तान, लश्कर के टॉप चार नेता गिरफ्तार

News18 : Oct 10, 2019, 09:15 PM

इस्लामाबाद | पाकिस्तान (Pakistan) की जांच एजेंसियों ने गुरुवार को आतंकवाद की फंडिंग के आरोपों पर प्रतिबंधित लश्कर-JuD के 'शीर्ष चार नेताओं' को गिरफ्तार कर लिया. गुरुवार को गिरफ्तार किए गए लश्कर-ए-तैयबा-जमात-उद-दावा (JuD) के शीर्ष चार नेताओं में प्रोफेसर जफर इकबाल, याहया अजीज, मुहम्मद अशरफ और अब्दुल सलाम शामिल हैं.

पाकिस्तान की ओर से यह कार्रवाई FATF की बैठक से कुछ रोज पहले की गई है. बता दें पेरिस में होने वाली फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की बैठक 12 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक होगी.

पाकिस्तान को पिछले साल जून में ग्रे लिस्ट में रखा गया था और इसे अक्टूबर 2019 तक पूरा करने के लिए कार्रवाई की योजना दी गई थी या ईरान और उत्तर कोरिया के साथ ब्लैक लिस्ट में रखे जाने का खतरा था.

पाकिस्तान के आतंकवाद निरोधी विभाग (CTD) के एक प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय कार्य योजना (NAP) में 'महत्वपूर्ण प्रगति' हुई है क्योंकि अभियोजित संगठन JuD / LeT के मुख्य नेताओं को CTD पंजाब द्वारा आतंकवाद के फंडिंग के अपराधों में गिरफ्तार किया गया है.

CTD ने कहा, 'JuD / LeT प्रमुख हाफिज सईद पहले से ही टेरर फंडिंग मामले में मुकदमे का सामना कर रहा है. अब JuD-LeT पूरी पहली पंक्ति मुकदमों का सामना करेगी.'

पंजाब में आतंकवाद टेरर फंडिंग के अपराधों की जांच

इसने आगे कहा कि CTD पंजाब में आतंकवाद टेरर फंडिंग के अपराधों की जांच कर रहा है जिसमें इन आरोपियों ने आतंकवाद के लिए फंडिंग के जरिए हासिल किए गए धन का उपयोग करके संपत्ति का निर्माण किया था.

उन्होंने कहा, 'संदिग्धों ने अल-अनफाल ट्रस्ट की तरह ट्रस्टों का गठन किया था, जो इन संगठनों की फ्रंट संस्थाओं के रूप में काम करते थे. सरकार द्वारा इनकी संपत्तियां पहले से ही फ्रीज की जा चुकी हैं.' उन्होंने कहा, संदिग्धों को जोड़ना शुक्रवार को ट्रायल कोर्ट में पेश किया जाएगा.

CTD ने 17 जुलाई को सईद को गिरफ्तार किया था. उसे लाहौर की कोट लखपत जेल में रखा गया था.