Share Market News / राहुल गांधी का शेयर मार्केट पर बयान गुमराह करने वाला, 5 ट्रिलियन से अधिक बढ़ा मार्केट- पीयूष गोयल

Vikrant Shekhawat : Jun 06, 2024, 09:44 PM
Share Market News: लोकसभा चुनाव का रिजल्ट 4 जून को घोषित हुआ। इस दिन शेयर मार्केट 5 हजार से अधिक प्वाइंट्स के साथ टूटा था। लाखों-करोड़ों लोगों को नुकसान झेलना पड़ा। इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने शेयर मार्केट के टूटने को स्कैम बताया। उन्होंने क्रोनोलॉजी समझाते हुए कहा कि अमित शाह ने कहा कि 4 जून से पहले शेयर खरीद लीजिए। 19 मई को मोदी जी कहते हैं कि स्टॉक मार्केट 4 जून को सारे रिकॉर्ड तोड़ने वाली है। 28 मईको फिर वही बयान मोदी जी देते हैं। 1 जून को मीडिया गलत एग्जिट पोल दिखाती है। भाजपा के इंटरनल सर्वे में बताया गया था कि उन्हें 220 सीट मिल रही है। भाजपा नेता ये बात जानते थे। 3 जून को स्टॉक मार्केट ने सारे रिकॉर्ड तोड़े और 4 जून को स्टॉक मार्केट अंडरग्राउंड चला जाता है। राहुल गांधी ने इसकी जेपीसी से जांच कराने की मांग की। 

पीयूष गोयल ने राहुल गांधी के बयान को बताया भ्रामक

इस पर अब भाजपा नेता पीयूष गोयल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सफाई दी। उन्होंने राहुल गांधी के बयान पर कहा, राहुल गांधी ने चुनाव में जो वादा किया है, उसका क्या होगा। महिलाओं को 1 लाख रुपये देने का वादा पूरा करें। राहुल गांधी उसे पूरा करें ना कि निवेशकों को डराएं धमकाएं। इसका सबसे बड़ा लाभ भारतीय निवेशक को मिला है। विदेशी निवेश कम हुई है। भारतीय निवेशकों की संख्या बढ़ी है। यूपीए सरकार में भारत का मार्केट 67 लाख करोड़ था। आज वह बढ़कर 415 लाख करोड़ रुपया हो गया है। देश और विदेश के निवेशकों को डराया जा रहा है ताकि वे निवेश न करें। 

पीयूष गोयल बोले- हमारा मार्केट कैप 5 ट्रिलियन डॉलर से अधिक बढ़ा

पीयूष गोयल ने कहा कि मार्केट में उतार-चढ़ाव चलता रहता है। राहुल गांधी भाजपा के नेताओं पर गलत आरोप लगाकर मार्केट के निवेशकों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। पीयूष गोयल ने कहा कि सफलतापूर्वक मोदी सरकार के कार्यकाल में हमारा मार्केट कैप 5 ट्रिलियन डॉलर से अधिक हुआ है। पीएम मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत ने यह प्राप्त किया है। आज भारत का इक्विटी मार्केट विश्व की 5 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की कैप है, उसमें से एक भारत का है। पीएसयू का मार्केट कैप लगभग 4 गुना मोदी सरकार के कार्यकाल में बढ़ा है। 

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER