Sri Lanka Crisis / श्रीलंका राष्ट्रपति ने इस्तीफे पर दस्तखत कर छोड़ा देश, मालदीव पहुंचे गोटबाया राजपक्षे

Zoom News : Jul 13, 2022, 05:24 PM
श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे देश छोड़कर मालदीव भाग गए हैं। राजपक्षे के देश छोड़ने से श्रीलंकाइयों का गुस्सा भड़क गया है। राजधानी कोलंबो की सड़कों पर प्रदर्शनकारी जमकर उत्पात कर रहे हैं। लोगों के उग्र विरोध को देखते हुए प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने इमरजेंसी का ऐलान किया है।


कई जगहों पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों में हिंसक झड़प हुई है। विक्रमसिंघे ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, ट्राइ-फोर्सेज कमांडरों और इंस्पेक्टर जनरल पुलिस (IGP) को मौजूदा हालात संभालने की जिम्मेदारी दी है। लंकाई प्रधानमंत्री कार्यालय की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 30 से ज्यादा प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं।


प्रदर्शनकारियों ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मामले में दखल देने की मांग की है। प्रदर्शनकारियों पर हेलिकॉप्टर से नजर रखी जा रही है। साथ ही भीड़ को काबू करने के लिए हवाई फायरिंग भी की गई है।


प्रदर्शनकारियों ने नेशनल टीवी पर कब्जे का खंडन किया

मीडिया रिपोर्ट्स में नेशनल टीवी 'रूपवाहिनी' के स्टूडियो पर प्रदर्शनकारियों के कब्जे का दावा किया गया था। हालांकि बाद में प्रदर्शनकारियों ने बयान जारी कर कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय टीवी पर कब्जा नहीं किया था।


आंदोलनकारियों का कहना है कि रूपवाहिनी कॉर्पोरेशन के अधिकारियों से चर्चा के बाद ही वो स्टूडियो में दाखिल हुए थे। साथ ही उनसे अपने विचार प्रसारित करने की गुजारिश भी की थी। जिसके बाद 15 मिनट का स्क्रीनटाइम दिया गया। हालांकि अब रूपवाहिनी का प्रसारण फिर शुरू हो गया है।


देश छोड़कर भागे राष्ट्रपति राजपक्षे ने इस्तीफा नहीं दिया है। उन्होंने अपनी जगह प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को कार्यवाहक राष्ट्रपति बना दिया है। श्रीलंका के प्रधानमंत्री आवास के बाहर इस समय भारी सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री का भी इस्तीफा मांग रहे हैं।


एयरफोर्स ने गोटबाया को एयरक्राफ्ट दिया

श्रीलंकाई एयरफोर्स के मीडिया डायरेक्टर ने कहा कि राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, फर्स्ट लेडी और दो बॉडीगार्ड्स को मालदीव जाने के लिए रक्षा मंत्रालय से इमीग्रेशन, कस्टम और बाकी कानूनों को लेकर पूरी अनुमति दी गई थी। 13 जुलाई की सुबह उन्हें एयरफोर्स का एक एयरक्राफ्ट उपलब्ध कराया गया था।


गोटबाया को अमेरिका ने नहीं दिया वीजा

गोटबाया राजपक्षे श्रीलंका छोड़कर अमेरिका भागना चाहते थे, लेकिन अमेरिका ने उन्हें वीजा नहीं दिया। राजपक्षे के पास श्रीलंका और अमेरिका की दोहरी नागरिकता थी, लेकिन 2019 में राष्ट्रपति चुनाव से पहले उन्होंने अपनी अमेरिका की नागरिकता छोड़ दी थी।


दरअसल, श्रीलंका के संविधान में सिंगल सिटीजनशिप का प्रावधान है। ऐसे में उन्हें राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए सिर्फ श्रीलंका का नागरिक होना जरूरी था।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER