Delhi / बीच-बचाव कराने आए 11वीं के विद्यार्थी की चाकू घोंपकर हत्या

Zoom News : May 12, 2022, 08:38 AM
उत्तरी दिल्ली के सराय रोहिल्ला इलाके में झगड़े के दौरान बीच-बचाव कराने पर आरोपियों ने 11वीं कक्षा के छात्र की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त मोहम्मद समीर (19) के रूप में हुई। दरअसल दो पड़ोसियों के बीच झगड़ा हो रहा था। एक परिवार ने परवीन नामक महिला को पहले पीटा। इसके बाद आरजू उर्फ नूर हसन (22) ने परवीन को चाकू मार दिया।


वहां से गुजर रहे समीर ने परवीन को बचाने का प्रयास किया तो आरोपियों ने उसे भी चाकू मारकर जख्मी कर दिया। घायलों को आचार्य भिक्षु अस्पताल ले जाया गया, जहां समीर को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी आरजू और उसकी मां रिहाना को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का पिता व बड़ा भाई फरार है। घटना के बाद समीर के परिजन अस्पताल पहुंच गए और हंगामा किया।


पुलिस ने समझा-बुझाकर सभी को शांत कराया। उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने बताया कि मंगलवार रात करीब 9.45 बजे राखी मार्केट, जखीरा, इंद्रलोक से चाकू मारने की सूचना मिली। खबर मिलने के बाद पुलिस तुरंत वहां पहुंची। छानबीन के दौरान पता चला कि आरजू का पिता मोहम्मद अली और इसके पड़ोस में रहने वाली महिला परवीन का पति मो. अली (दोनों का नाम मोहम्मद अली है) एक साथ छोटा-मोटा काम करते हैं। मंगलवार को काम पर जाते समय परवीन का पति आरजू के पिता को अपने साथ नहीं ले गया था।


इस बात पर आरजू की मां रिहाना और परवीन के बीच कहासुनी हो गई। जो जल्द ही मारपीट में बदल गई। मां के कहने पर आरजू ने परवीन पर चाकू से हमला कर उसे लहूलुहान कर दिया। इस बीच इंद्रलोक निवासी समीर अपने दोस्तों के साथ वहां से गुजर रहा था। समीर ने परवीन को बचाने का प्रयास किया तो आरोपी ने समीर पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर दिए। इस दौरान आरजू का पिता मो. अली, मां रिहाना, भाई राजू भी वहां मौजूद थे। आरोप है कि इन लोगों ने समीर पर रॉड से हमला भी किया। पुलिस के मुताबिक समीर के पिता मोहम्मद शकूर की मौत हो चुकी है। वह अपने बड़े भाई के साथ इंद्रलोक इलाके में रहता है। इसका भाई कपड़े की दुकान चलाता है। जबकि समीर पास के सरकारी स्कूल में 11वीं कक्षा का छात्र था।


स्वरूप नगर में महिला की गला घोंटकर हत्या, पति फरार

बाहरी-उत्तरी दिल्ली के स्वरूप नगर इलाके में एक महिला की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। मृतका की शिनाख्त वंदना तिवारी (30) के रूप में हुई है। महिला के पति ने ही कॉल कर एंबुलेंस को बुलाया था। लेकिन एंबुलेंस के मौके पर पहुंचने पर आरोपी गायब मिला। महिला को अस्पताल ले जाया गया, यहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। शव का पोस्टमार्टम कराया गया तो उसकी हत्या का खुलासा हुआ।


पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। महिला का पति फरार है। पुलिस के मुताबिक, वंदना परिवार के साथ नत्थूपुरा, सुशांत विहार, गली नंबर-6 में किराए के मकान में रहती थी। परिवार में पति विमल तिवारी के अलावा दस और छह साल के दो बेटे हैं। विमल एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। मंगलवार दिन में विमल ने कॉल कर पत्नी के बेहोश होने की बात कहते हुए एंबुलेंस बुलाई। खबर मिलने के बाद एंबुलेंस मौके पर पहुंची तो महिला अचेत मिली। लेकिन विमल घर से गायब मिला। आशंका जताई जा रही है कि पति ने ही वारदात को अंजाम दिया है।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER