Pakistan / पीएम के तीन विकल्पों वाले दावे को सेना ने बताया झूठ, संसद में फैसला आज, इमरान ने किया लोगों से सड़कों पर उतरने का आह्वान

Vikrant Shekhawat : Apr 03, 2022, 09:35 AM
पाकिस्तान की संसद में प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान रविवार को होना है। इमरान ने शनिवार को लोगों से रविवार को देशभर में प्रदर्शन का आह्वान किया है। उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले विपक्ष को ‘गद्दार’ करार देते हुए लोगों से रविवार को सड़कों पर उतरने को कहा।

‘ए सेशन विद ऐरे न्यूज’ कार्यक्रम में उन्होंने लोगों से कहा कि किसी अन्य देश में ऐसा हुआ होता तो लोग सड़कों पर आ जाते। इसलिए देश के हित के लिए मैं आप सबसे अपने जमीर की खातिर सड़कों पर आने के लिए कह रहा हूं। उन्होंने युवाओं से विदेशी शक्तियों के खिलाफ उतरने के लिए भी कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दल अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दबाने के लिए सत्ता में आने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले, इमरान ने सेना पर उन्हें तीन विकल्प देने (इस्तीफा, अविश्वास प्रस्ताव का सामना और जल्दी चुनाव) का भी दावा किया था। बाद में खुद सेना ने इस दावे को गलत बताया था।

धमकी मिली तो दबाए क्यों रखा: शहबाज

विपक्षी दलों के नेताओं और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने इमरान पर अंतरराष्ट्रीय साजिश का नाटक रचने का आरोप लगाते हुए पूछा कि पीएम को सचमुच अमेरिका से धमकी भरा पत्र मिला था तो इसे 27 मार्च तक दबाए क्यों बैठे रहे। इस मुद्दे को तत्काल राष्ट्रीय सुरक्षा समिति के समक्ष क्यों नहीं उठाया गया। असल में इमरान इस नाटक के जरिये अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान से बचना चाहते हैं।

संसद के करीब बढ़ाई गई सुरक्षा

इस्लामाबाद स्थित संसद की घेराबंदी करते हुए चारों तरफ रेड जोन बना दिया गया है। इसके बाद केवल सांसदों को ही संसद में आने की इजाजत होगी। संसद की तरफ आने वाले रास्तों पर भी बैरिकेडिंग है। 

विदेशी साजिश की जांच के लिए आयोग

इमरान सरकार में सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कानून मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभालने के बाद इमरान सरकार के खिलाफ कथित विदेशी साजिश की जांच के लिए आयोग गठित करने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले फवाद चौधरी ने शुक्रवार को इमरान की हत्या की साजिश का आरोप लगाया था। 

कश्मीर समेत सभी मुद्दों का भारत से बातचीत कर निकले हल : बाजवा 

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने शनिवार को फिर ढोंग करते हुए कहा कि कश्मीर समेत सभी मुद्दों का भारत के साथ बातचीत के जरिये शांतिपूर्ण समाधान होना चाहिए।

इस्लामाबाद में दो दिवसीय सुरक्षा संवाद में बाजवा ने कहा, भारत तैयार होता है तो पाकिस्तान कश्मीर समेत सभी विवादों का हल निकालने के लिए बातचीत की राह पर आगे बढ़ने को तैयार है। साथ ही भारत पर आरोप मढ़ा कि वह वार्ता में बाधा डाल रहा है। भारत स्पष्ट कह चुका है कि सीमा पार से आतंकवादियों को भेजना बंद करने तक  पाकिस्तान से वार्ता संभव नहीं है। भारत ने दो टूक कहा है कि कश्मीर भारत का हिस्सा था, है और रहेगा। पाकिस्तान दुनियाभर में कश्मीर पर झूठा दावा जताता रहा है। एजेंसी

पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष ने फिर किया ढोंग

बाजवा ने कहा कि अमेरिका से पाकिस्तान के लंबे और शानदार रणनीतिक संबंध हैं, लेकिन देश गुटबाजी में विश्वास नहीं करता। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के अपने भागीदारों के साथ द्विपक्षीय संबंध अन्य देशों के साथ संबंधों पर निर्भर नहीं करते। बाजवा की यह टिप्पणी प्रधानमंत्री के अमेरिका पर धमकी और विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव के षड्यंत्र के आरोप लगाने के बाद आई है। 

उन्होंने इमरान के रुख के विपरीत रूस के यूक्रेन पर आक्रमण को भी गलत करार दिया। उन्होंने कहा, पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय आर्थिक हितों के लिए संपर्क और दोस्ती पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। वैसे पाकिस्तान के 73 साल के अस्तित्व में आधे से ज्यादा समय तक देश में सेना का शासन रहा है।


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER