उत्तर प्रदेश / उत्तर प्रदेश सरकार ने कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा रद्द की

Zoom News : Jun 03, 2021, 02:21 PM
UP Board 12th Exam 2021: योगी सरकार ने सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ( यूपी बोर्ड ) की 12वीं ( इंटरमीडिएट ) की परीक्षा भी रद्द कर दी है। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने गुरुवार को राज्य सरकार के इस फैसले के बारे में बताया। यूपी बोर्ड 12वीं में इस बार 26,09,501 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। यूपी बोर्ड 10वीं ( हाईस्कूल ) की परीक्षा पहले की रद्द हो चुकी है। 

सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा, 'कोविड महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। आदरणीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से उत्तर प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा।'

सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया कि यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा भी रद्द कर दी गई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इस सिलसिले में की गई बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक में प्रदेश के माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा मंत्री उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी शामिल थे। यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के लिए 26 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों ने अपना पंजीकरण कराया था। 

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने सीबीएसई बोर्ड की बारहवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए संकेत दे दिए थे कि यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षाएं भी अब नहीं होंगी। माध्यमिक शिक्षा विभाग संभाल रहे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने मंगलवार को कहा था कि शीघ्र ही राज्य के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 12वीं की परीक्षा के बारे में निर्णय लिया जाएगा।

सीबीएसई की परीक्षाएं रद्द होने के बाद मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा था, “आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने कोविड संक्रमण के दृष्टिगत सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय देश भर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दिशा में बढ़ाया गया महत्वपूर्ण कदम है। सभी छात्रों व अभिभावकों की ओर से प्रधानमंत्री जी का हार्दिक आभार।” इससे उम्मीद लगाई जा रही थी कि यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षाएं भी रद्द हो सकती हैं। 

अब यूपी बोर्ड का रिजल्ट तैयार करने के विकल्प खोजे जाएंगे। 

चूंकि यूपी बोर्ड में प्री बोर्ड बहुत व्यवस्थित तरीके से नहीं होता है और इसका कोई ब्यौरा यूपी बोर्ड के पास नहीं होता है। सीबीएसई के पास 11वीं और 12वीं प्री बोर्ड, प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट आदि के नंबर होते हैं। लिहाजा रिजल्ट तैयार करने के लिए सीबीएसई और आईसीएसी का विकल्प यूपी नहीं अपना सकता।

प्रदेश सरकार ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर पिछले महीने यूपी बोर्ड की दसवीं की परीक्षा भी निरस्त कर दी थी। इसके बाद हाई स्कूल के 30 लाख परीक्षार्थियों को 11वीं कक्षा में प्रोन्नत किया जाएगा।

सीबीएसई के फैसले के बाद एमपी बोर्ड, हरियाणा बोर्ड, राजस्थान बोर्ड, गुजरात बोर्ड, उत्तराखंड बोर्ड, गोवा बोर्ड और महाराष्ट्र बोर्ड अपनी 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर चुके हैं। अब इस लिस्ट में यूपी बोर्ड भी शामिल हो गया है।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER