विशेष / जयपुर स्थित अल्बर्ट हॉल में क्या ख़ास है, जानने के लिए देंखे ये वीडियो

Zoom News : Nov 15, 2019, 12:50 PM

भारत के राजस्थान राज्य के जयपुर ज़िले में स्थित एक संग्रहालय है। यह राजस्थान का सबसे पुराना संग्रहालय है। यह संग्रहालय "राम निवास उद्यान" के बाहरी ओर सीटी वॉल के नये द्वार के सामने है। यह "भारत-अरबी शैली" में बनाई गयी एक बिल्डिंग है। इसकी डिजाइन सर सैम्युल स्विंटन जैकब ने की थी तथा यह पब्लिक संग्रहालय के रूप में 1887 में खुला था।

इतिहास

महाराजा राम सिंह चाहते थे कि इसको एक टाउन हॉल बनाया जाये परंतु "माधोसिंह 2" ने यह निर्णय लिया कि इसे जयपुर के लिए एक कला का संग्रहालय बनाया जाये और इसको राम निवास उद्यान का अंग माना जाता है। यह "सरकारी केन्द्रीय संग्रहालय" के नाम से भी जाना जाता है। इस संग्रहालय में कई पुराने चित्र ,दरियाँ ,हाथी दाँत ,कीमती पत्थर ,धातु ,मूर्तियाँ रंगबिरंगी कई वस्तुएँ देखने को मिलती है। इसका नाम किंग एडवर्ड सप्तम (अल्बर्ट एडवर्ड) के नाम पर रखा गया है, जिसकी प्रिंस ऑफ वेल्स के रूप में शहर की यात्रा के दौरान, इसकी आधारशिला 6 फरवरी 1876 को रखी गई थी।

यह राज्य का सबसे पुराना संग्रहालय है और राजस्थान के राज्य संग्रहालय के रूप में कार्य करता है। यह इमारत न्यू गेट के सामने शहर की दीवार के बाहर राम निवास गार्डन में स्थित है और इंडो-सारासेनिक वास्तुकला का बेहतरीन नमूना है। इमारत को सर सैमुअल स्विंटन जैकब द्वारा डिजाइन किया गया था, जिसे मीर तुजुमूल होसिन ने सहायता प्रदान की थी, और इसे 1887 में सार्वजनिक संग्रहालय के रूप में खोला गया था। इसे सरकारी केंद्रीय संग्रहालय भी कहा जाता है। महाराजा राम सिंह शुरू में इस इमारत को टाउन हॉल बनाना चाहते थे, लेकिन उनके उत्तराधिकारी माधोसिंह द्वितीय ने फैसला किया कि यह जयपुर की कला के लिए एक संग्रहालय होना चाहिए और नए राम निवास उद्यान के हिस्से के रूप में शामिल होना चाहिए। संग्रहालय में चित्रों, कालीनों, हाथी दांत, पत्थर, धातु की मूर्तियों और क्रिस्टल में काम करने सहित कलाकृतियों का एक समृद्ध संग्रह है।