नई दिल्ली / टाइट जींस पहनकर युवक ने 8 घंटे चलाई कार, तीन दिन बाद हुआ ये हाल

Live Hindustan : Nov 22, 2019, 11:22 AM

चुस्त (टाइट) जींस पहनकर लगातार घंटों तक कार चलाने से दिल का दौरा और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा हो सकता है। दिल्ली के पीतमपुरा निवासी 30 वर्षीय सौरभ इसी का शिकार हुए हैं। सौरभी टाइट जींस पहनकर अपनी ऑटोमेटिक बिना गेयर वाली नई कार लेकर दोस्तों के साथ दिल्ली से ऋषिकेश के लिए निकले थे। कार में सिर्फ रेस और ब्रेक होने की वजह से वह केवल एक पैर का ही इस्तेमाल कर पा रहे थे। करीब पांच घंटे की यात्रा के बाद उन्हें अपना एक पैर सुन्न होने सा एहसास हुआ।

तीन दिन बाद वापस दिल्ली आने के बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई। उन्हें शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचने पर पता चला कि उन्हें हार्ट अटैक आया है। डॉक्टरों ने उन्हें पल्मोनरी इम्बॉल्मिंग (पीई) की पुष्टि की। मैक्स के डॉ. नवीन भामरी बताते हैं कि जब सौरभ अस्पताल आए, उस वक्त उनका पल्स 10-12 प्रति मिनट था। शरीर नीला पड़ गया था। 45 मिनट तक डॉक्टरों ने अपने दोनों हाथों से सीपीआर दिया। ईको से पता चला कि दिल का दायां चैंबर फेल हो गया है और वे पल्मोनरी इम्बॉल्मिंग की स्थिति में हैं। टीम ने तुरंत थ्रोम्बोलाइसिस किया, क्योंकि उस वक्त दिल की हालत को और बिगड़ने से रोकने का यही उपाय था। 24 घंटे तक डायलिसिस पर रखना पड़ा था। डॉक्टर ने बताया कि सौरभ चुस्त जींस पहनकर आठ घंटे तक ड्राइव कर रहा था। इस दौरान एक पांव का अधिक प्रयोग हो रहा था, इसलिए ऐसी स्थित सामने आई।

ऐसे आ जाता है हार्ट अटैक

भामरी ने बताया कि पल्मोनरी इम्बॉल्मिंग (पीई) एक ऐसी स्थिति है जिसमें चुस्त कपड़े पहनने या लंबे समय तक एक ही स्थान पर बैठे रहने से खून का संचार रुक जाता है और रक्त का थक्का जमने लगता है। ऐसा होने से इंसान को दिल या दिमाग का अटैक आ सकता है। भारत में हर साल करीब 10 लाख मामले ऐसे सामने आ रहे हैं। लंबे समय तक एक अवस्था में न रहें डॉक्टरों ने बताया कि लंबी अवधि तक अंगों का न चलना, डिहाइड्रेशन की स्थिति पल्मोनरी इम्बॉल्मिंग के संकेत हो सकते हैं। जो लोग बीड़ी-सिगरेट या शराब का सेवन करते हैं, उनमें इसकी आशंका ज्यादा होती है। इसलिए लंबी अवधि तक एक ही अवस्था में बैठे रहने से बचना चाहिए। दो घंटे से ज्यादा समय तक लगातार न बैठें और बीच में थोड़ा उठकर चल लें।