Jammu-Kashmir News / आज अमित शाह की जम्मू-कश्मीर पर हाई लेवल मीटिंग, कौन-कौन होगा शामिल?

Vikrant Shekhawat : Jun 16, 2024, 11:15 AM
Jammu-Kashmir News: 29 जून को अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है, जिसके चलते सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं. आज यानी रविवार को देश के गृह मंत्री अमित शाह अमरनाथ यात्रा के चलते जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा इंतजाम सुनिश्चित करने को लेकर दिल्ली में एक हाईलेवल मीटिंग करेंगे. इस मीटिंग में कई सुरक्षा अधिकारी समेत जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा भी शामिल होंगे.

हाल ही में जम्मू के रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर हमला हुआ था, जिसमें नौ तीर्थयात्रियों की मौत हो गई थी और 1 जवान की भी मौत हो गई थी. साथ ही इस हमले में 6 जवान और कई यात्री घायल हो गए थे, जिसमें बच्चे भी शामिल थे. जिसके बाद अब पहले से ही सरकार अमरनाथ यात्रा के लिए हर तरह के सुरक्षा के इंतजामों को लेकर सतर्क है.

मीटिंग में किन बातों पर चर्चा होगी

हाल ही में रियासी, कठुआ और डोडा में चार आतंकवादी हमले हुए. जिसके बाद रविवार को दिल्ली में हाईलेवल बैठक बुलाई गई. इस मीटिंग में अमित शाह जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा की समीक्षा करेंगे. साथ ही 29 जून को शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा की तैयारी और उसकी सुरक्षा के इंतजामों पर भी बैठक में चर्चा होगी. माना जा रहा है कि आतंक के खिलाफ अभियान को तेज करने के लिए गृहमंत्री अधिकारियों को दिशा निर्देश दे सकते हैं.

कौन-कौन होगा मीटिंग में शामिल

सुरक्षा के इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए होने वाली इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, सेना प्रमुख-नामित लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक तपन डेका, सीआरपीएफ के महानिदेशक अनीश दयाल सिंह, जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक आरआर स्वैन और कई सुरक्षा अधिकारियों के शामिल होने की उम्मीद है.

क्यों अहम है मीटिंग

रविवार को होने वाली यह बैठक इसीलिए भी अहम है क्योंकि जम्मू-कश्मीर में हाल ही में कई आतंकी घटनाएं हुई. जिसके बाद अब अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है और किसी भी तरह का आतंकी हमला न हो, इसीलिए सुरक्षा समीक्षा को लेकर बैठक की जा रही है. साथ ही इस मीटिंग में अमरनाथ तीर्थयात्रा की तैयारियों की भी समीक्षा की जाएगी. अमरनाथ पहुंचने के लिए यात्री जम्मू- कश्मीर के दो रूट का इस्तेमाल करते हैं, बालटाल और पहलगाम. पिछले साल 4.28 लाख से ज्यादा लोग अमरनाथ पहुंचे थे जबकि इस साल यह आंकड़ा पांच लाख तक जा सकता है.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER