CBSE / CBSE परीक्षा रद्द हो सकती हैं 10वी और 12वी कक्षा की

Zoom News : Jun 21, 2020, 06:51 AM

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) कक्षा 12 के स्टूडेंट्स के लिए एक नया विकल्प लेकर आया है। इसके तहत बोर्ड स्टूडेंट्स को एक स्पेशल मार्किंग स्कीम के आधार पर पास कर सकता है। हालांकि, अपने प्रदर्शन में सुधार के लिए स्टूडेंट्स बाद में परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। यानि अब सीबीएसई जुलाई में बोर्ड परीक्षा आयोजित नहीं करेगा। इसकी जगह बोर्ड मूल्यांकन के एक अल्टरनेटिव मेथड अपना सकता है। अपने परीक्षा परिणामों से असंतुष्ट स्टूडेंट बोर्ड द्वारा बाद में आयोजित की जाने वाली पेन-एंड-पेपर परीक्षा का हिस्सा ले सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, देश में कोरोना के बढ़ते पॉजिटिव मामलों को देखते हुए, 1 जुलाई से 15 जुलाई तक CBSE की परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं है। आगे किसी तरह की देरी CBSE स्टूडेंट्स को उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेने में बाधा डाल सकती है।

परीक्षा में देरी के चलते पीछे छूट सकते हैं स्टूडेंट्स

वहीं, देश में करीब 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने 12वीं की अपनी बोर्ड परीक्षाएं पूरी कर ली हैं। इनमें बिहार, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, केरल, झारखंड, तमिलनाडु और कर्नाटक शामिल हैं। जिन राज्यों ने अपनी परीक्षाओं को पूरा कर लिया है, वे जल्द ही कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के लिए अपनी प्रवेश प्रक्रिया शुरू करेंगे। ऐसे में अगर CBSE की परीक्षाएं 15 जुलाई के बाद के लिए स्थगित की जाती हैं, तो स्टूडेंट्स पीछे छूट सकते हैं। इस बारे में CBSE की इस सप्ताह में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ दो बैठकों में चर्चा हुई। मौजूदा समय में बोर्ड वैकल्पिक मूल्यांकन पद्धति पर काम कर रहा है, जिसके आधार पर वह 12वीं का परिणाम घोषित करेगा, जिसमें जुलाई में होने वाले पेपर भी शामिल होंगे। हालांकि, इस बारे में अभी एक औपचारिक घोषणा अगले सप्ताह होने की संभावना है।

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका

इससे पहले अभिभावकों के एक समूह ने CBSE की परीक्षा रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाते हुए याचिका दायर की थी। जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने CBSE को परीक्षा रद्द करने के बारे में विचार करने को कहा था। अब इस बारे में बोर्ड मंगलवार 23 जून को अपना जवाब सुप्रीम कोर्ट को देगा। सूत्रों ने यह भी कहा कि जेईई (मेन), जेईई (एडवांस्ड) और नीट जैसे राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाओं को रद्द करने की संभावना नहीं है। इन परीक्षाओं को आगे स्थगित किया जा सकता है, लेकिन इन्हें रद्द नहीं किया जाएगा।"

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER