Delhi / छह महीने में मेट्रो में 3.66 लाख यात्रियों पर लगाया जुर्माना, वसूले गए 7.32 करोड़ रुपये

Zoom News : Apr 05, 2022, 11:29 AM
दिल्ली मेट्रो में कोरोना नियमों का उल्लंघन करने पर पिछले छह महीने में करीब 3.66 लाख यात्रियों पर जुर्माना लगाया गया। इनमें मास्क या सामाजिक दूरी का पालन न करने के मामले हैं। कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने 7.32 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला। बंदिशें हटाने के बाद भी मास्क पहनने, सैनिटाइजेशन की यात्रियों को सलाह दी जा रही है। सोशल मीडिया पर भी यात्रियों को लगातार जागरूक किया जा रहा है ताकि संक्रमण से बचाव हो सके। 

कोरोना काल में लागू बंदिशों के दौरान दिल्ली मेट्रो में नियमों के उल्लंघन के सर्वाधिक मामले फरवरी में आए। इस दौरान रोजाना औसतन 550 से अधिक मामले आए। 29 दिसंबर से मेट्रो में यात्रा करने में मिली छूट के बाद उल्लंघन के मामले भी बढ़ गए। 28 फरवरी से मेट्रो में कोरोना प्रोटोकॉल के पालन में छूट दी गई। इसके तहत 100 फीसदी क्षमता सहित मेट्रो में यात्रियों को खड़े होकर भी सफर की इजाजत दे दी गई।

जनवरी में रोजाना नियमों के उल्लंघन के 391 मामले आए जबकि मार्च में यह आंकड़ा 369 रहा। अब बंदिशें पूरी तरह हटा ली गई हैं लेकिन यात्रियों को सलाह दी जा रही है कि सफर के दौरान नियमों का पालन करें ताकि किसी भी तरह के संक्रमण का खतरा न रहे। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर दिल्ली मेट्रो में 200 रुपये का जुर्माना किया जाता था। 

कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी के मामले (रोजाना औसत मामलों की संख्या) 

  • अक्तूबर-280
  • नवंबर-  220
  • दिसंबर- 227
  • जनवरी- 391
  • फरवरी- 552
  • मार्च-369
यात्रियों को जागरूक भी किया गया

नियमों की अनदेखी के मामलों में कार्रवाई के साथ-साथ दिल्ली मेट्रो की तरफ से लगातार यात्रियों को इस दौरान सलाह देते हुए जागरूक भी किया गया। औसतन 400 से 750 यात्रियों को रोजाना डीएमआरसी कर्मियों ने जागरूक किया ताकि नियमों की अनदेखी न हो। बावजूद इसके नियमों का पालन न करने वालों पर डीएमआरसी ने जुर्माना किया। 

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER