Imran Khan PTI / इमरान खान की पार्टी पर लग सकता है बैन, पाक सरकार कर रही विचार

Vikrant Shekhawat : May 24, 2023, 02:28 PM
Imran Khan PTI: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पीटीआई पर अब प्रतिबंध लगाने की मांग उठने लगी है. शहबाज शरीफ सरकार में रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि इमरान सेना को दुश्मन मानते हैं. वह सेना को विरोधी के तौर पर देखते हैं. इमरान की पूरी राजनीति सेना की गोद से है और आज वह ही सेना के खिलाड़ खड़े हैं. ख्वाजा आसिफ ने कहा कि ‘ऐसा सिर्फ मैं नहीं कह रहा हूं, बल्की पीटीआई छोड़ने वाले तमाम नेता कह रहे हैं.’ इमरान की गिरफ्तारी के बाद 9 मई की हिंसा पर सैन्य कार्रवाई को उन्होंने ‘वैध’ बताया.

इमरान खान ने भी 9 मई की हिंसा की आलोचना की है. इमरान हिंसा मामले में स्वतंत्र जांच की मांग कर चुके हैं. पीटीआई चीफ का दावा है कि हिंसा सुनियोजित थी. पीटीआई को खत्म करने की साजिश के आरोपों के साथ इमरान खान का कहना है कि जांच होगी तो असमाजिक तत्वों का खुलासा हो जाएगा. शहबाज सरकार सेना की आलोचना करने वालों के खिलाफ कानून बना सकती है. ख्वाजा आसिफ का कहना है कि सुरक्षा बलों को निशाना बनाने से रोकने के लिए सरकार हर कदम उठाएगी.

इमरान खान नहीं की हिंसा की निंदा- ख्वाजा आसिफ

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने अबतक स्पष्ट शब्दों में हिंसा की निंदा नहीं की है. हालांकि, इमरान खान अपने संबोधन पार्टी कार्यकर्ताओं से हिंसा न करने की अपील की है. वह लाहोर में कॉर्प्स कमांडर हाउस में आगजनी की आलोचना भी की थी. इमरान का कहना है कि साजिश के तहत हिंसा की गई थी. हालांकि, ख्वाजा आसिफ का आरोप है कि इमरान कह रहे हैं कि उन्हें हिंसा की जानकारी नहीं थी. शहबाज के मंत्री ने कहा कि इमरान के पास उनका अपना फोन था, और वह कई बार कह चुके हैं कि प्रतिक्रिया अपेक्षित थी, और अगर फिर से गिरफ्तारी होती है तो फिर हिंसा होगी.

पीटीआई को बैन करने पर विचार, अभी निर्णय नहीं

ख्वाजा आसिफ का आरोप है कि इमरान खान ने 9 मई को देश की नींव को चुनौती दी थी. रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ का कहना है कि पीटीआई ने 9 मई को “रक्षा प्रतिष्ठानों को चुनौती देकर” राज्य की नींव को चुनौती दी. आसिफ ने पूछा कि क्या कोई अपराध है जो 9 मई को नहीं किया गया था? आईएसआई कार्यालय पर हमला किया गया, उन्होंने सियालकोट में छावनी में प्रवेश करने की कोशिश की, लेकिन उस हमले को नाकाम कर दिया गया … उन्होंने लाहौर कोर कमांडर के घर में भी आग लगा दी. अब सरकार पीटीआई को बैन करने पर विचार कर रही है. अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER