PM Rishi Sunak News / बापू की कथा में PM ऋषि सुनक, जय सियाराम का जयकारा लगाकर बोले- हिंदू के नाते यहां

Vikrant Shekhawat : Aug 15, 2023, 11:50 PM
PM Rishi Sunak News: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में चल रहे मुरारी बापू की रामकथा सुनने पहुंचे. पीएम सुनक मंगलवार को बापू की शरण में पहुंचकर खुद को हिंदू प्रधानमंत्री बताया. पीएम सुनक ने जय सियाराम का जयकारा लगाते हुए मुरारी बापू की व्यास पीठ पर पुष्पांजलि अर्पित की. उन्होंने कहा कि यहां पीएम के रूप में काम करना आसान काम नहीं है, इसमें मुझे सफलता का आशीर्वाद दें.

पीएम सुनक ने संबोधन में क्या कहा?

प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कहा, ‘भारत के स्वतंत्रता दिवस पर कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में मुरारी बापू की रामकथा में उपस्थित होना वास्तव में सम्मान और खुशी की बात है. बापू, मैं आज यहां एक प्रधानमंत्री के रूप में नहीं बल्कि एक हिंदू के रूप में हूं. सुनक ने अपने भाषण के दौरान, चांसलर के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान 11 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर दिवाली के अवसर पर दीये जलाने के एक विशेष पल को याद किया और कहा कि उन्हें अपने डेस्क पर भगवान गणेश की एक मूर्ति रखने पर गर्व है.’

ऋषि सुनक ने कहा, बापू आपके आशीर्वाद से हमारे ग्रंथों ने जो एक नेता के लिए काम सुझाए हैं वो मैं करने का प्रयास कर रहा हूं. आपकी ऊर्जा प्रेरणा देती है. आपने पिछले हफ्ते भारत में 12 ज्योतिर्लिंग में घूम घूमकर रामकथा की और इसके लिए 12000 किलोमीटर का भ्रमण किया. मैं सोचता रहा कि काश मैं भी उस यात्रा में वहां मौजूद होता.

ब्रिटिश पीएम ने अपने युवा वर्षों को याद करते हुए यह भी कहा, उन्हें ब्रिटिश और हिंदू होने पर गर्व है. वह अपने भाई-बहनों के साथ अपने पड़ोस के मंदिर में जाते थे और अपने परिवार के साथ हवन, पूजा, आरती और प्रसाद वितरण जैसे अनुष्ठानों में भाग लेते थे. उन्होंने आगे कहा कि हमारे मूल्य और मैं जो देखता हूं कि बापू अपने जीवन में हर दिन निस्वार्थ सेवा, भक्ति करते हैं. लेकिन शायद सबसे बड़ा मूल्य कर्तव्य या सेवा है, जैसा कि हम जानते हैं.

कार्यक्रम के दौरान मुरारी बापू ने ब्रिटेन के लोगों के प्रति अपनी समर्पित सेवा को सुविधाजनक बनाने के लिए असीम शक्ति की कामना करते हुए भगवान हनुमान का आशीर्वाद लिया. बापू ने सुनक की भारतीय मूल के व्यक्ति के रूप में सराहना की और कार्यक्रम में भाग लेने से पहले 50-100 वॉलिंटियर्स को प्रसाद के रूप में भोजन देने की उनकी भावना की सराहना की.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER